छात्र नेता को खुले पर मंच पर पड़ा थप्पड़…

के न्यूज़\राजस्थान- जयपुर के महारानी कॉलेज में सोमवार को छात्रसंघ कार्यालय उद्घाटन का कार्यक्रम था. इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत थे. इसी समारोह में राजस्थान यूनिवर्सिटी के छात्र संघ अध्यक्ष निर्मल चौधरी भी अतिथि थे. तो वहीं शिरकत कर रहे महासचिव अरविंद ने भरे मंच पर निर्मल को थप्पड़ मार दिया जिसके बाद वहां का माहौल काफी गरम हों गया था|

राजस्थान यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ अध्यक्ष निर्मल चौधरी के साथ हुई मारपीट की घटना सोशल मीडिया भी जमकर वायरल हो रही है।

आपको बता दे की निर्मल चौधरी 2022 से पहले एक साधारण छात्र थे। अध्ययन करने के दौरान उन्होंने छात्र प्रतिनिधि के रूप में काम शुरू किया। में निर्मल और उनकी टीम छात्र-छात्राओं की मदद के लिए हर वक्त तैयार रहते थे। इन दिनों निर्मल कभी मीडिया की सुर्खियों में नहीं रहे। वे बिना किसी प्रचार के केवल छात्र-छात्राओं के बीच एक्टिव रहे। अगस्त 2022 में जब छात्रसंघ चुनाव कार्यक्रम घोषित हुआ तो निर्मल चौधरी का नाम पहली बार मीडिया के सामने उभर कर आया।

विश्वविद्यालय के बाहर रहकर छात्र राजनीति का समीकरण बताने वाले सारे चाणक्य कहते रहे कि राजस्थान यूनिवर्सिटी में त्रिकोणीय संघर्ष होगा। लेकिन निर्मल चौधरी ने सारे चाणक्यों को फेल साबित करते हुए रिकॉर्ड तोड़ जीत हासिल करते हुए छात्रसंघ अध्यक्ष बने।निर्मल चौधरी को अपनी जीत पर इतना भरोसा था कि कांग्रेस विधायक का नजदीकी होने के बावजूद उन्होंने कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई से टिकट नहीं मांगा।

एनएसयूआई ने रितु बराला को टिकट दिया जबकि एबीवीपी ने नरेन्द्र यादव को मैदान में उतारा था। एनएसयूआई से बागी होकर एक मंत्री की बेटी निहारिका मीणा ने भी छात्रसंघ चुनाव में ताल ठोकी, लेकिन वह चुनाव नहीं जीत सकी। एनएसयूआई की प्रत्याशी रितु बराला तीसरे और एबीवीपी प्रत्याशी नरेन्द्र यादव चौथे स्थान पर रहे।

निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में निर्मल चौधरी जब राजस्थान विश्वविद्यालय और संघटक कॉलेजों में प्रचार प्रसार कर रहे थे। तब उनका समर्थन देखकर लोग आश्चर्यचकित रह जाते थे। किसी को इतना भरोसा नहीं था कि निर्मल के साथ जो भीड़ नजर आ रही है, वह वोटों में तब्दील हो जाएगी। लेकिन निर्मल चौधरी ने कमाल कर दिखाया। जैसे ही राजस्थान विश्वविद्यालय के छात्रसंघ चुनाव का परिणाम आया तो हर किसी की जुबान पर निर्मल चौधरी का नाम आ गया। रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल करने पर निर्मल रातोंरात स्टार बन गए। एक साधारण सा छात्र देखते ही देखते अचानक पूरे प्रदेश में लोकप्रिय हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.