AIIMS Cyber Attack Case: इंटरपोल से मांगी गई चीनी हैकरों की जानकारी, दिल्ली पुलिस ने सीबीआई को लिखा पत्र

राजधानी दिल्ली स्थित एम्स (AIIMS) के सर्वर पर हाल ही में साइबर अटैक हुआ था। रिपोर्ट की माने तो चीनी हैकर्स का हाथ था। हैकर्स ने AIIMS के 100 सर्वर में से पांच को हैक कर लिया थ।। हालांकि अब इन पांचों सर्वर के डेटा को वापस हासिल कर लिया गया है। जांच में पता चला है कि हैकिंग करने वाले हॉन्गकॉन्ग और चीन के हेनान से हैं। बता दें कि दिल्ली पुलिस ने सीबीआई को लेटर लिखकर इंटरपोल के जरिए चीन से हैकरों के बारे में जानकारी मांगी है। इंटरपोल से संपर्क के लिए नोडल एजेंसी सीबीआई है । इस पत्र में दिल्ली पुलिस ने उन आईपी एड्रेस के बारे में जानकारी मांगी है जिनसे हैकरों को मेल गए थे। साथ ही पूछा गया कि ये आईपी एड्रेस किसको दिए गए हैं। इनका प्रयोग कोई कंपनी कर रही है या फिर कोई निजी शख्स. चीन में इंटरनेट उपलब्ध कराने वाली कंपनी से भी जानकारी मांगी गई है।

डेटा चुराने के लिए सर्वर को निशाना बनाया

आपको बता दें कि एम्स के सर्वर पर 23 नवंबर को साइबर अटैक हुआ था। ये साइबर अटैक हॉन्गकॉन्ग की दो मेल आईडी से किया गया था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम से इसकी जांच कर रही है। रिपोर्ट में बताया गया है कि ईमेल का IP एड्रेस हॉन्गकॉन्ग का है। यही वजह वजह है कि इसमें चीन की भूमिका इसमें लग रही है। इससे पहले भी AIIMS के सर्वर पर बड़ा अटैक हुआ था। इससे सर्वर डाउन हो गया था और कई सर्विस बंद हो गई थी।

पहले भी हो चुका है हैक

बता दें कि एम्स का सरवर 2019 और 2020 में हैक हो चुका है। नवंबर 2020 में Cit0day को कई हैकिंग फोरम पर डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध करा दिया गया था. Cit0day 23 हजार से ज्यादा ब्रीच्ड वेबसाइट्स का एक कलेक्शन है। इस डेटा में पासवर्ड, ईमेल आईडी थे।

ये भी पढ़ें-हरिद्वार: हरकी पौड़ी को किया जाएगा अतिक्रमण मुक्त, जामली मार्केट पर होगी कार्रवाई! व्यापारियों में आक्रोश