गैंगस्टर्स और ड्रग माफियाओं पर CM योगी का गजब ‘एक्शन’ प्लान

गैंगस्टर्स के साथ टूटेगी ड्रग माफिया की कमर  

CM योगी के अफसर ने किया बड़ा ऐलान

अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम तैयार ड्रग्स माफियाओं के सिंडिकेट को जड़ से करेंगे खत्म

छह दिन में 4060 गिरफ्तार, दो करोड़ रुपये से ज्यादा का नशा बरामद

अपराधियों, माफियाओं के साथ बाहुबलियों और गैंगस्टर्स के खिलाफ जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर चलने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब प्रदेश में नशे का कारोबार करने वाले ड्रग (Drugs) माफिया के खिलाफ बड़ा फैसला लिया है. जिसकी जानकारी उनकी सरकार के इस बड़े अफसर ने साझा की है. उत्तर प्रदेश में ड्रग माफियाओं को जड़ से खत्म करने की तैयारी शुरू हो गई है अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम बनकर तैयार हो गई है और जल्द ही ड्रग माफियाओं के संगीत को एक को जोड़ने के लिए योगी सरकार द्वारा गठित अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम उस पर कार्रवाई करेगी।

उत्तर प्रदेश  सरकार ने प्रदेश में नशे के सौदागरों के खात्मे का ऐलान किया है. राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फैसले और ऐलान को ध्यान में रखते हुए प्रदेश का प्रशासन मुस्तैद हो गया है. ड्रग्स यानी नॉर्को माफिया के खिलाफ शुरू हुए इस युद्ध में अब यूपी के ड्रग्स माफियाओं की संपत्ति की लिस्ट बनेगी और ये काम पूरा होते ही उसकी सारी संपत्ति को सरकार जब्त कर लेगी.

 


यूपी प्रशासन के बड़े अफसर यानी अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश के सभी थानों से ड्रग्स माफियाओं की सूची मंगाई है. इसी के साथ उनकी संपत्तियों की डिटेल भी मंगाई गई है. उन्होंने ये भी कहा कि उत्तर प्रदेश में युवाओं को नशे से बचाना हमारी बड़ी जिम्मेदारी हैं. इस दिशा में हम काम कर रहे हैं. प्रदेश के सभी थानों और जिलों से ड्रग्स का कारोबार करने वाले उसमें लिप्त रहने वालों की सूची 31 अगस्त तक मांगी गई है. सभी जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान आपस में तालमेल करके रिपोर्ट भेजेंगे.  उसके बाद उन पर कार्रवाई होगी।

गैंगस्टर्स के बाद ड्रग माफिया के खिलाफ होगी कार्रवाई

अपर मुख्य सचिव गृह ने यह भी कहा, ‘हमने प्रदेश भर में अपराधियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए 3800 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है. ये एक्शन तो जारी रहेगा अब इसी के साथ प्रदेश के ड्रग्स माफियाओं पर शिकंजा कसा जाएगा. उत्तर प्रदेश में क्राइम और करप्शन पर जीरो टॉलरेंस जारी रहेगा इसलिए हम किसी भी अपराधी को छोड़ने वाले नहीं है. अगर कोई माफिया विदेश में भी है तो उसके खिलाफ भी कानून उसी कड़ाई से अपना काम करेगा.

नशे के खिलाफ सीएम योगी का युद्ध

यूपी के ड्रग माफिया की कमर तोड़ने के लिए सीएम योगी की खास सेना तैयार हो चुकी है. आपको बताते चलें कि एनटीएफ के गठन के बाद इसके स्ट्रक्चर का काम भी अब पूरा हो गया है. यानी अब प्रदेश में ड्रग माफियाओं के खिलाफ 250 से अधिक अधिकारी और कर्मचारी निर्णायक कार्यवाई करने के साथ नशे के सौदागरों का खात्मा करने जा रहे हैं ।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में 2017 से लगातार माफिया गुंडा बाहुबली अपराधियों पर लगातार कार्रवाई हो रही है। सरकारी या फिर अवैध तरीके से जमीनों पर कब्जा किए हुए माफियाओं से प्रॉपर्टी को लगातार सरकार अपने कब्जे में ले रही है। 2017 से लगातार माफियाओं अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है अब जिस तरह से उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए माफियाओं गुंडों अपराधियों के खिलाफ सरकार ने कार्रवाई की है उसी तरह युवाओं को ड्रग का आदि बनाने वाले ड्रग माफिया और उनके सिंडिकेट को तोड़ने के लिए सरकार पूरी तरह से तैयार है ड्रग माफियाओं पर कार्रवाई के लिए पूरी व्यवस्था तैयार कर ली गई है अधिकारियों कर्मचारियों की टीम बना ली गई है उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ओढ़ के साथ-साथ अधिकारियों को 31 अगस्त तक जनपद के सभी ड्रग माफियाओं की सूची के साथ साथ माफियाओं के प्रॉपर्टी का डिटेल भी मंगाया गया है जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक आपसी तालमेल से इस लिस्ट को 31 अगस्त तक शासन को सौंपेंगे उसके बाद सरकार द्वारा गठित टीम ड्रग माफिया के खिलाफ कार्रवाई करेगी। अवनीश अवस्थी ने कहा कि जिस तरह से उत्तर प्रदेश सरकार ने माफियाओं और गुंडों के खिलाफ कार्रवाई के प्रदेश की कानून व्यवस्था को पटरी पर लाया है उसी तरह ड्रग माफिया और उसके सिंडिकेट के खिलाफ कार्रवाई होगी। जल्द ही उत्तर प्रदेश ड्रग माफिया और उसके सिंडीकेट को जड़ से खत्म किया जाएगा।