कानपुर में जहरीली गैस से तीन युवकों की मौत

KANPUR : बुरी खबर कानपुर से है जहां सेप्टिक टैंक के शटर को हटाने गये तीन युवकों की मौत हो गयी है। तीनों की आयु 18 से 24 वर्ष के बीच की है। मरने वालों में दो सगे भाई है और एक पड़ोसी। हुआ यह कि कानपुर जिले में जिले में सेप्टिक टैंक में कार्य के लिए धुसे तीन युवकों की जहरीली गैस निकाने के कारण मौत हो गई। घटना रविवार शाम की है। वे एक अप्रयुक्त सेप्टिक टैंक के शटर को हटा रहे थे जब दुर्घटना हुई।

शवों की पहचान 18 वर्षीय नंदू, 24 बर्षीय उनके बड़े भाई मोहित और 16 बर्षीय उनके पड़ोसी साहिल के रूप में हुई है, जो सभी कानपुर के चौबेपुर के निवासी हैं। पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) विजय ढुल ने कहा कि, नंदू और मोहित सेप्टिक टैंक की शटरिंग का काम करते थे और साहिल मजदूरी करता था।

विजय ढुल ने बताया कि कुछ महीने पहले बनाए गए एक अप्रयुक्त सेप्टिक टैंक से शटरिंग को हटाने के लिए बिठूर इलाके में गए थे। सबसे पहले, साहिल टैंक में घुसा और होश खो बैठा। ढुल ने कहा कि नंदू और मोहित ने उसे बचाने की कोशिश की लेकिन वे भी जहरीली गैस की चपेट में आ गए। उन्होंने कहा कि दमकलकर्मियों ने तीनों को बचाने के लिए टैंक को तोड़ा।

डीसीपी ने कहा कि नंदू, मोहित और साहिल को लाला लाजपत राय अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। डीसीपी विजय ढुल ने कहा कि, अगर पीड़ित परिवार शिकायत दर्ज कराना चाहता है तो मामला दर्ज किया जाएगा।