मुख्यमंत्री भगवंत मान शिक्षकों की अतरिक्त ड्यूटी वाले वादे से पलटे

के न्यूज़\पंजाब– पंजाब में शुक्रवार को आम आदमी क्लीनिक के उद्घाटन पर सरकारी शिक्षकों की ड्यूटी लगा दी गयी। चुनाव से पहले मुख्यमंत्री भगवंत मान का वादा था कि “शिक्षक केवल शिक्षण कार्य पर ध्यान केंद्रित करेंगे और उन्हें कोई दूसरा अतिरिक्त काम नहीं दिया जाएगा।” मगर इसके उलट उन्हेंने उद्घाटन में इनकी ड्यूटी लगा दी।

 

पंजाब के पठानकोट और कपूरथला जिलों द्वारा जारी आदेशों के अनुसार सरकारी स्कूलों के कंप्यूटर टीचर्स को उनके निर्धारित किये गए स्थानों पर आम आदमी क्लीनिक में रिपोर्ट करना है और तकनीकी सहायता प्रदान करनी है| पंजाब की AAP सरकार 27 जनवरी को राज्य में 400 नए मोहल्ला क्लीनिक का उद्घाटन करने जा रही है|

एसडीएम के आदेश अनुसार, पठानकोट जिले में कुल 20 कंप्यूटर शिक्षक है जिनमें से प्रत्येक क्लिनिक में दो टीचर्स की ड्यूटी लगायी है। आदेश के अनुसार नियुक्त किए कंप्यूटर शिक्षकों को स्मार्ट एलईडी स्क्रीन पर उद्घाटन समारोह के लाइव प्रसारण के लिए तकनीकी सहायता प्रदान करनी होगी।

कपूरथला के जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा इसी तरह के आदेश में, 15 कंप्यूटर शिक्षकों को 27 जनवरी को सुबह 9 बजे आम आदमी क्लीनिक में रिपोर्ट करने के लिए कहा है ताकि कार्यक्रम के सुचारू संचालन के लिए तकनीकी सहायता प्रदान की जा सके।

कंप्यूटर टीचर्स यूनियन, पंजाब के राज्य संयोजक परमवीर सिंह ने कहा कि,”आदेश आम आदमी पार्टी (AAP) द्वारा चुनाव के पहले किए गए वादों के पूर्ण विपरीत थे, जिसमें कहा गया था कि वह पंजाब में शिक्षा क्रांति लाएंगे और शिक्षक केवल सिखाएंगे|”

परमवीर सिंह ने ” पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के कि शिक्षकों को कोई अतिरिक्त ड्यूटी नहीं दी जाएगी वाले बयान पर चुटकी ली और बोला की यह भी AAP के चुनाव से पहले किए गए वादों में से एक था। हालांकि, व्यावहारिक रूप से इसका पालन नहीं किया जा रहा है। वर्किंग डे पर और एग्जाम से पहले शिक्षकों को एक राजनीतिक कार्यक्रम में रिपोर्ट करने के लिए कहा जा रहा है। हम कम्प्यूटर टीचर हैं, ऑपरेटर नहीं। स्वास्थ्य विभाग के पास अपने कंप्यूटर चलाने के लिए अपना स्टाफ है तो इसके लिए शिक्षकों को क्यों बुलाया जा रहा है?”

Leave a Reply

Your email address will not be published.