उत्तराखंड में जमकर बर्फबारी

देहरादून,   उत्तराखंड में मौसम ने करवट बदल ली है. प्रदेश के कई जिलों और हिल स्टेशनों में बारिश और बर्फबारी का दौर जारी है. चमोली जनपद में बर्फबारी से नजारा दिलकश बना हुआ है, बद्रीनाथ केदारनाथ गंगोत्री यमुनोत्री धामों समेत पहाड़ियां बर्फ से लकदक हो गई है.देहरादून के चकराता ,उत्तरकाशी और टिहरी में भी जोरदार बर्फबारी हुई है. प्रदेश में बर्फबारी के बाद ठंड में इजाफा हो गया है. सीमांत जनपद चमोली में जमकर बर्फबारी हुई है, जिसके बाद तापमान में खासी गिरावट दर्ज की गई है. यही नहीं बदरीनाथ में बर्फबारी के बाद नजारा मनमोहक बना हुआ है, टिहरी में भी हिमपात हुआ है, जिसका शैलानी जमकर लुत्फ उठा रहे है. वहीं प्रदेश में ठंड बढ़ने से लोग अलाव का सहारा लेते दिखाई दे रहे हैं.
मोली, टिहरी और उत्तरकाशी में हुई बर्फबारी चमोली जनपद के औली में ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पहाड़ी से लेकर पेड़-पौधे पूरी तरह बर्फ से ढके हुए हैं. चमोली के औली में अच्छी खासी बर्फबारी हुई. टिहरी की पर्यटन नगरी धनोल्टी में देर रात से सुबह तक इस साल की पहली बर्फबारी हुई धनोल्टी आलू फार्म, एप्पल गार्डन, सुरकंडा देवी, कखाल बाटवालधार और तपोवन आदि जगहों पर दो इंच तक बर्फ जम गयी है. काफी पर्यटक यहां पहुंचे हुए हैं बर्फबारी देखने के लिए आए पर्यटक बर्फ देख रात भर सड़कों पर नाचते हुए दिखाई दिए उत्तरकाशी में भी जमकर बर्फबारी हुई है,
उत्तरकाशी में भी शुक्रवार से मौसम ने करवट बदली, तो वहीं पहाड़ों में शुक्रवार शाम से लगातार बर्फबारी जारी है। ऊँचाई वाले इलाकों में जहाँ बर्फबारी जारी है तो निचले इलाकों में हल्की बारिश ने तापमान में भारी गिरावट ला दी है। शुक्रवार शाम से लगातार जारी बर्फबारी के बाद गंगोत्री और यमुनोत्री धाम ने बर्फ की सफ़ेद चादर ओढ़ ली है। बर्फ की सफ़ेद चादर के बीच दोनों धाम अपनी खूबसूरती की छटा बिखेर रहे हैं। इसके साथ ही जनपद के हर्षिल घाटी सहित गीठ पट्टी और मोरी के सांकरी -हरकीदून घाटी में लगातार जारी बर्फबारी से जनजीवन अस्त व्यस्त है। हर्षिल घाटी में भारी बर्फबारी के कारण झाला में गंगोत्री हाईवे बंद हो गया है। जिस कारण गंगोत्री धाम सहित अंतरराष्ट्रीय सीमा सहित घाटी के चार गांव का सम्पर्क जिला मुख्यालय से कट गया है। झाला में बॉर्डर रोड ऑर्गनाइजेशन की मशीनरी बर्फ को हटा कर गंगोत्री हाईवे खोलने का प्रयास कर रही है।
धनोल्टी में साल 2023 की पहली बर्फबारी,व्यापारी किसान और स्थानीय लोगों के खिल उठे चेहरे,कल शाम को ही बर्फबारी देखने के लिए धनोल्टी पहुंचे पर्यटक
-पहाडो की रानी मसूरी के पास पर्यटन नगरी धनोल्टी में देर रात से हो रही इस साल की पहली बर्फबारी धनौल्टी आलू फार्म एपल गार्डन सुराकन्ड देवी कद्दूखाल बाटवालधार तपोवन सहित आदि कई जगहों पर दो इंच तक की बर्फबारी कल शाम को ही बर्फबारी देखने के लिए कई पर्यटक पर्यटन नगरी धनोल्टी में पहुंचे हुए हैं रात भर सड़को पर नाचते हुए बर्फबारी का जमकर आनंद लिया व काफी खुश नजर आए। स्थानीय निवासी पंकज पवार देवेंद्र बेलवाल ने बताया कि इस साल की पहली बारिश से किसान स्थानीय एवं व्यापारी काफी खुश हैं साथ ही उनको उम्मीद है कि इस साल अच्छी बर्फबारी होने की संभावना है साथ ही उन्होंने पर्यटकों से भी अपील की है कि आप अधिक से अधिक संख्या में आकर पर्यटन नगरी धनोल्टी में इस साल की पहली बर्फबारी का आनंद लें।
देहरादून के चकराता में जौनसार बावर मे ऊंची चोटियों पर सीजन की पहली बर्फबारी हुई है, हालांकि इस बार बर्फबारी काफी देरी से हुई, आज सुबह सवेरे चकराता और जौनसार बावर के ऊँचे इलाके में जब लोगों की नींद खुली तो बर्फबारी का मनमोहक नजारा देखकर स्थानीय लोगों के चेहरे खिल उठे। इसके साथ ही मौसम के मिजाज की नब्ज को भापते हुए यहां पहले से पहुंचे पर्यटक बर्फबारी का नजारा देख खुद को रोक ना सके और जमकर बर्फ से खेलते नजर आए।
 देर रात जहां निचले इलाकों में बारिश से मौसम का मिजाज बदला वही जौनसार बावर में देवबंद, मुंडाली, लोखंडी, खड़ंम्बा,बुधेर सहित लगभग सभी ऊंची चोटियां बर्फ से सफेद हो चुकी हैं।
उत्तराखंड मौसम विभाग ने राज्य के कुछ जनपदों में 2500 मीटर व उससे अधिक ऊंचाई पर बर्फबारी का अंदेशा जताया था, जो सच साबित हो रहा है. मौसम विज्ञान केंद्र ने 14 जनवरी यानी से 19 जनवरी के बीच उत्तराखंड समेत आसपास के राज्यों में कड़ाके की ठंड को लेकर अलर्ट जारी किया है. इस दौरान मैदानी क्षेत्रों में घना कोहरा लोगों की परेशानियों में इजाफा कर सकता है. सर्द हवाएं चलने से लोगों को ठंड से परेशानी हो सकती. वहीं मौसम विभाग ने ज्यादातर मैदानी क्षेत्रों में शीत दिवस की स्थिति बनने को लेकर चेतावनी जारी की है, लिहाजा अगले एक हफ्ते तक मैदानी क्षेत्रों में शीत लहर के बीच कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है. वहीं मौसम विभाग के अनुमान की बात करें तो अगले कुछ दिन प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में आंशिक बादल छाये रहने के साथ मौसम शुष्क रहने का अनुमान जताया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.