सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव इरफान सोलंकी से करेंगे मुलाकात, फर्जी आधार कार्ड से यात्रा करने के मामले में19 दिसंबर को होगी सुनवाई

सपा विधायक इरफान सोलंकी को फर्जी आधार कार्ड से दिल्ली से मुंबई तक यात्रा में मदद करने के आरोपी नूरी शौकत, विधायक इरफान सोलंकी समेत सात लोगों की जमानत अर्जी पर सुनवाई टल गई है। पुलिस की ओर से रिपोर्ट नहीं भेजी गई। जिसकी वजह से अभियोजन ने समय दिए जाने की मांग की जिस पर कोर्ट ने 21 दिसंबर की तारीख दी है। बता दें कि इस मामले में आरोपित ड्राइवर के मामले में सुनवाई दो दिन पहले करने की गुजारिश कोर्ट से की गई थी। जिसके बाद कोर्ट से उन्हें 19 दिसंबर की तारीख दी मिली है।

फर्जी आधार कार्ड पर की थी यात्रा

बता दें कि सपा विधायक ने दिल्ली से मुंबई तक की यात्रा फर्जी आधार कार्ड पर की थी। इस मामले में सपा नेत्री नूरी शौकत पर टिकट बुक कराने और यात्रा में मदद करने का अरोप पुलिस ने लगाया था। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अधिवक्ता नरेश चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि इरफान उनके साले अनवार लियाकत मंसूरी और अख्तर लियाकत मंसूरी, नूरी शौकत व उसके भाई अशरफ अली उर्फ शेखू, मौसा इशरत अली और ड्राइवर अम्मार इलाही की जमानत अर्जी पर सुनवाई प्रभारी जिला जज अजय त्रिपाठी के न्यायालय में हुई।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव 20 दिसंबर को कानपुर आ रहे हैं। अखिलेश जिला जेल में बंद पार्टी विधायक इरफान सोलंकी से मुलाकात करेंगे।  वह पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ एक मीटिंग में निकाय चुनाव की तैयारियों पर चर्चा करेंगे।बता दें कि समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी पिछले दो सप्ताह से जिला जेल में बंद हैं। उन पर एक महिला के प्लाट पर जबरन कब्जा करने की कोशिश में मकान को आग के हवाले करने का गंभीर आरोप है।

ये भी पढ़ें-बाहुबली मुख्तार अंसारी को 10 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का जुर्माना भी लगाया