बाराबंकी: संस्कृत आचार्य की काटी चोटी, राज्यमंत्री ने लिया संज्ञान, कहा- वह जांच कराकर करेंगे उचित कार्रवाई

बाराबंकी: जिले के सिटी इंटर कॉलेज में एक संस्कृत आचार्य के चोटी काटने और उसको परेशान करने के मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। आचार्य का आरोप है कि अभी भी न तो कॉलेज के अटेंडेंस रजिस्टर में उन्हें साइन करने दिया जा रहा है और न ही बच्चों को पढ़ाने ही दिया जा रहा है। हालांकि अब इस मामले में राज्यमंत्री माध्यमिक शिक्षा ने जरूर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। उनका कहना है कि जल्द ही मामले का निस्तारण करेंगी।

बता दें कि मामला बाराबंकी के सिटी इंटर कॉलेज में संस्कृत के आचार्य के रूप में कार्यरत अभय कुमार कोरी से जुड़ा है। अभय कोरी का आरोप है कि विद्यालय में सामंतवादी सोच के तहत क्षत्रिय शिक्षकों ने गुट बना रखा है। यह सभी लोग उसे आए दिन यह कह कर प्रताड़ित करते हैं कि तुम अनुसूचित जाति से आते हो। ऐसे में हमारे साथ काम नहीं कर सकते। अभय कोरी का आरोप है कि विद्यालय में ही सभी ने मिलकर उसकी चोटी भी काट दी थी। उन्हें पिछले कई महीनों से कॉलेज के अटेंडेंस रजिस्टर में साइन नहीं करने दिया जा रहा है और न ही बच्चों को पढ़ाने ही दिया जा रहा है।

आलम यह है कि विद्यालय का स्टाफ और आचार्य अभय कोरी एक दूसरे पर आरोप लगाकर आये दिन कोतवाली के भी चक्कर लगाते रहते हैं। अभय कोरी का कहना है कि उनके मामले में कोई कार्रवाई नहीं हो रही। वहीं इस मामले को लेकर अब राज्यमंत्री माध्यमिक शिक्षा गुलाब देवी ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि मामला अब उनके संज्ञान में आया है और वह इस विषय की जांच कराकर कार्रवाई करेंगी।

ये भी पढ़ें-बाराबंकी: आग का गोला बनी चलती बस, यात्रियों ने कूदकर बचाई अपनी जान