भाजपा कांग्रेस के बाद समाजवादी पार्टी को भी नए अध्यक्ष की तलाश

यूपी के तीन बड़े राजनैतिक दलों को अध्यक्ष की तलाश

सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के साथ समाजवादी पार्टी और कांग्रेश को भी नए अध्यक्ष की तलाश

कयासों का बाजार गर्म भाजपा हो या कांग्रेस या फिर सपा सभी दलों में नए नए नामों के चर्चाओं का बाजार गर्म

उत्तर प्रदेश में तीन बड़े राजनीतिक दलों भाजपा कांग्रेश और समाजवादी पार्टी को नए अध्यक्ष की तलाश है। भारतीय जनता पार्टी में रोज एक नए नाम को लेकर चर्चा हो रही है कभी किसी का तो कभी किसी का लेकिन अभी केंद्रीय नेतृत्व द्वारा किसी नाम की घोषणा नहीं की गई है ऐसा बताया जा रहा है कि जल्द ही भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा नए अध्यक्ष की घोषणा की जाएगी। संगठन के लिहाज से स्कूल में पढ़ी कांग्रेसमें भी नए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश जोर-शोर से जारी है। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार जल्द ही कांग्रेश को यूपी में नया अध्यक्ष मिलेगा कांग्रेस पार्टी जातीय और क्षेत्रीय समीकरण में जो चेहरा फिट बैठेगा उसी चेहरे की घोषणा करेगा। समाजवादी पार्टी में भी वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल का कार्यकाल पूरा होने वाला है ऐसे में समाजवादी पार्टी भी नए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश कर रही है राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव किसी युवा चेहरे को नए अध्यक्ष की कमान सौंपेंगे ऐसा बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी 2014 ,2019 लोक सभा 2017 और 2022 विधानसभा चुनाव में हारने के बाद अब जातीय आधार पर नहीं बल्कि जो चेहरा जातीय और क्षेत्रीय समीकरण को साधने में सीट बैठेगा उसी चेहरे को प्रदेश की कमान सौंपने के मूड में है।

पिछले एक महीने से लगातार भारतीय जनता पार्टी के नए अध्यक्ष की तलाश जारी है। रोज नए नए नामों के साथ चर्चाओं का बाजार गर्म है। कभी बी एल वर्मा तो कभी केशव प्रसाद मौर्य कभी सुब्रत पाठक तो कभी हरीश द्विवेदी सांसद बस्ती सभी राजनीतिक दल उत्तर प्रदेश में नए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश में है सभी दल ऐसे चेहरे को उत्तर प्रदेश की कमान सौंपना चाहते हैं जो जाति और क्षेत्रीय समीकरण में फिट बैठता हो ।

भारतीय जनता पार्टी पिछले 1 महीने से नए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश कर रहा है सरकार और संगठन के बीच कई बार बैठते हुए लेकिन नाम फाइनल नहीं हो पाया इसके अलावा केंद्रीय नेतृत्व ने भी कई बार बैठकर की लेकिन ऐसा चेहरा केंद्रीय नेतृत्व के नजर में नहीं आया जो क्षेत्रीय और जातीय समीकरण को साधने में पूरी तरह फिट हो और 2024 लोकसभा चुनाव के लिए 2014 लोक सभा 2017 विधानसभा और 2019 लोकसभा सीट 2022 यूपी विधानसभा की तरह भाजपा का परचम लहरा पाए ऐसे चेहरे की तलाश लगातार जारी है बताया जा रहा है कि जल्द ही भाजपा को नया अध्यक्ष मिल जाएगा वह कौन चेहरा होगा यह तो केंद्रीय नेतृत्व ही जानता है लेकिन केंद्रीय नेतृत्व की हर फैसले जो अप्रत्याशित होते हैं उसी तरह उत्तर प्रदेश का अध्यक्ष भी इन कयासों पर विराम लगाएगा और गलत साबित करेगा ।
संगठन दिन कांग्रेश भी लगातार प्रदेश अध्यक्ष की तलाश में है 2022 विधानसभा चुनाव हारने के बाद पार्टी ने अजय कुमार लल्लू को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया था तब से अध्यक्ष जी हिना कांग्रेश लगातार नए अध्यक्ष की तलाश में जुटी है जो जातीय और क्षेत्रीय समीकरण को साधने में सफल हो साथ ही संगठन को यूपी में खड़ा कर सके और आगामी 2024 लोकसभा चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन बेहतर कर सके ऐसे चेहरे की तलाश में कांग्रेस नेतृत्व में जुटा हुआ है बताया जा रहा है कि अगले महीने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का भी चुनाव है ऐसे में प्रियंका गांधी वाड्रा को केंद्रीय कमेटी में लेकर किसी युवा को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया जाएगा और नए नए चेहरे को उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाएगा।
समाजवादी पार्टी में भी सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है 2022 विधानसभा चुनाव के दौरान दिन क्षेत्रीय दलों से गठबंधन था वह सारे गठबंधन आज की डेट में सपा से किनारा कर लिए हैं ऐसे में समाजवादी पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल का कार्यकाल पूरा होने वाला है और समाजवादी पार्टी भी नए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश में है बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव युवा प्रदेश अध्यक्ष की तलाश में है किसको राजनीतिक अनुभव लंबा हो और क्षेत्रीय व जातीय समीकरण मैं फिट बैठे समाजवादी पार्टी के लिए चाचा शिवपाल का किनारा करने के बाद 2017 2019 से 2022 में लगातार प्रदर्शन गिरता गया ऐसे में समाजवादी पार्टी एक तरफ जहां सदस्यता अभियान चला रही है वही सदस्यता अभियान के दौरान ही नए प्रदेश अध्यक्ष की भी तलाश कर रही है और जल्द ही समाजवादी पार्टी भी नए प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा करेगा जिसके नेतृत्व में 2024 लोकसभा चुनाव लड़ा जाएगा ।