छत्तीसगढ़ : ASI की दबंगई आई सामने, थाने में मोटर साइकिल चोरी की सूचना देने गए अधिवक्ताओं के साथ किया अभद्र व्यवहार

रिपोर्ट : फिरतदास महंत

पाली/कोरबा : कोरबा में एक ASI ने अधिवक्ता संघ के सदस्य व अन्य को धमकी दे डाली। पाली थाना में पदस्थ ASI ओम प्रकाश परिहार पर अधिवक्ताओं से दबंगई के साथ अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए ASI को अन्यत्र स्थानांतरण करने की मांग कोरबा पुलिस अधीक्षक से की गई है। साथ ही 10 दिनों के अन्दर उचित कार्रवाई या स्थानांतरण नहीं होने पर आंदोलन की भी चेतावनी दी है।

बता दें कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद दमदार व युवा चेहरा विजय शर्मा को प्रदेश का गृह मंत्री बनाया गया है और विजय शर्मा उसी उत्साह और जोश के साथ प्रदेश में कानून व्यवस्था दुरुस्त करने, आम जनता को न्याय दिलाने सहित पुलिस की छवि सुधारने की दिशा में कार्य कर रहे हैं, किंतु पाली थाना में पदस्थ ASI ओम प्रकाश परिहार अपने दबंगई से पुलिस की छवि को धूमिल करने में लगे हैं।

बीते 8 फरवरी को अधिवक्ता संघ पाली का सदस्य अपने मोटर साइकिल चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराने अधिवक्ता संघ के सचिव उपवन खैरवार के साथ थाना पहुंचा था, लेकिन ASI ओम प्रकाश परिहार ने वकीलों के थाने में आने पर आपत्ति जताते हुए कहा-  कोर्ट के आदेश से ही आप थाना प्रवेश कर सकते हैं| अपनी बात कहते हुए उन्होंने तू और रे जैसे अपमान जनक शब्दों का प्रयोग किया, इसके बाद अधिवक्ता ने इसकी जानकारी अपने वरिष्ठों को दी| तब वरिष्ठ अधिवक्ता और जनपद पंचायत पाली के उपाध्यक्ष नवीन कुमार सिंह, पूर्व अध्यक्ष रीमा वर्मा और संघ के सह सचिव दिलीप शर्मा थाना पहुंचे और ASI परिहार से थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने कोर्ट के आदेश सहित उसके द्वारा अधिवक्ताओं से की गई अभद्र व्यवहार के संबंध में जानना चाहा, जिस बात से ASI फ़ौरन भड़क गए और आए हुए वरिष्ठ अधिवक्ताओं से भी तू और रे जैसे शब्द प्रयोग करने लगे| जबकि उस समय महिला अधिवक्ता भी साथ में थीं, सोचनीय है कि ASI विधि के जानकार वकीलों से इस तरह व्यवहार करते हैं तो आम पीड़ित या प्रार्थी से किस तरह बातचीत करते होंगे|

जानकारी के अनुसार, पहले भी एक व्यापारी सहित जनप्रतिनिधियों और पत्रकारों से भी इस तरह का वाक्या हो चुका है, जिसको लेकर व्यापारियों, पत्रकारों और जनप्रतिनिधियों में भी रोष है| फ़िलहाल मामले की शिकायत कोरबा पुलिस अधीक्षक से की गई है, अब देखना ये है कि उच्चाधिकारी मामले की जांच कर ASI पर क्या कार्रवाई करते हैं|

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.