पिछले 10 सालों में किए गए कामों की निरंतरता रहेगी, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय संभालने के बाद बोले केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह

KNEWS DESK- वरिष्ठ भाजपा नेता जितेन्द्र सिंह ने पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय को केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में बरकरार रखा। पिछली सरकार में कुछ समय तक यह मंत्रालय उनके पास था। पिछले साल मई में इस मंत्रालय का प्रभार किरेन रिजिजू को सौंपा गया था।

जितेन्द्र सिंह ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री के साथ-साथ कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय, परमाणु ऊर्जा विभाग तथा अंतरिक्ष विभाग का कार्यभार भी संभाला। संवाददाताओं से बातचीत करते हुए सिंह ने केंद्र की थीम ‘न्यूनतम सरकार, अधिकतम शासन’ पर जोर दिया तथा कहा कि यह पिछले दस वर्षों में दो कार्यकालों के दौरान किए गए कार्यों की निरंतरता होगी।

उन्होंने कहा कि यह पिछले दस वर्षों में दोनों कार्यकालों के दौरान किए गए कार्यों की निरंतरता होगी। पिछले दस वर्षों में प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में क्रांतिकारी शासन सुधारों की एक श्रृंखला हुई है, जो मूल रूप से न्यूनतम सरकार, न्यूनतम शासन और इस देश के प्रत्येक नागरिक के लिए जीवन को आसान बनाने के लिए नागरिक केंद्रितता की भावना से प्रेरित थे।

इसमें कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय, परमाणु ऊर्जा विभाग और अंतरिक्ष विभाग के प्रभारी हैं। हाल ही में 17वीं लोकसभा के भंग होने तक सिंह प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन, परमाणु ऊर्जा विभाग और अंतरिक्ष राज्य मंत्री के पद पर कार्यरत थे। डॉक्टर से राजनेता बने सिंह विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भी थे।

ये भी पढ़ें-  मौनी रॉय ने बिकिनी पहनकर बढ़ाया इंटरनेट का पारा, वायरल हुआ एक्ट्रेस का बोल्ड लुक

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.