टीम इंडिया की धमाकेदार शुरुआत, पहले मुकाबले में स्पेन को 2-0 से किया पराजित

राउरकेला। भारत ने एफआईएच पुरुष हॉकी विश्व कप 2023 में शुक्रवार को पूल-डी मुकाबले में स्पेन को 2-0 से परास्त करके अपने अभियान की विजयी शुरुआत की। बिरसा मुंडा अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम में खेले गये मुकाबले में अमित रोहिदास (12वां) और हार्दिक सिंह (26वां मिनट) ने मेजबान टीम के लिये गोल करके जीत में योगदान दिया।

करीब 21,000 हॉकी प्रेमियों से खचाखच भरे दुनिया के सबसे बड़े हॉकी स्टेडियम में भारत को सहज होने में थोड़ा समय लगा। शुरुआती मिनटों में स्पेन ने गेंद पर कब्जा रखा, लेकिन 11वें मिनट में स्पैनिश गोल पर मनदीप सिंह के हमले के साथ भारतीय आक्रमण की शुरुआत हो गयी।

भारत को अगले दो मिनटों में दो पेनल्टी कॉर्नर मिले, हरमनप्रीत दोनों को नेट में पहुंचाने में असफल रहे, लेकिन रोहिदास ने दूसरी पेनल्टी पर रिबाउंड को नेट में दागकर भारत का खाता खोल दिया। स्पेन ने एक गोल से पिछड़ने के बाद दूसरे क्वार्टर में आक्रामकता दिखाई। स्पेन ने 21वें मिनट में दाहिने फ्लैंक से जगह बनायी लेकिन रोहिदास ने खतरे को टाल दिया। स्पैनिश टीम को 24वें मिनट में एक पेनल्टी कॉर्नर भी मिला लेकिन गोलकीपर कृष्णा पाठक ने मुस्तैदी दिखाते हुए उन्हें स्कोर बराबर नहीं करने दिया।

अपना पहला विश्व कप खेल रहे हार्दिक कुछ ही क्षणों में गेंद के साथ दौड़ते हुए स्पैनिश अर्द्ध में पहुंच गये और उन्होंने विपक्षी टीम के रक्षण को भेदकर दर्शनीय गोल दाग दिया। भारत को तीसरे क्वार्टर में भी दो पेनल्टी मिलीं, हालांकि हरमनप्रीत उन पर स्कोर नहीं कर सके। चौथे क्वार्टर के दूसरे मिनट में अभिषेक को येलो कार्ड दिखाकर 10 मिनट के लिये बाहर कर दिया।

स्पेन ने भारतीय खेमे में एक खिलाड़ी कम पाकर मेजबान टीम पर दबाव बनाना शुरू किया और 53वें मिनट में उन्हें पेनल्टी कॉर्नर भी मिला। पॉल क्युनिल ने गोलपोस्ट पर निशाना साधा लेकिन पाठक ने उन्हें एक बार फिर स्पेन को खाता खोलने की अनुमति नहीं दी।

अभिषेक के फील्ड पर आने के बाद मैच के आखिरी मिनटों में स्पेन को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला मगर उनका तीसरा प्रयास भी असफल रहा। भारत ने इस जीत के साथ पूल-डी में दूसरा स्थान हासिल कर लिया है, जबकि इस पूल के पहले मुकाबले में वेल्स को 5-0 से हराने वाली इंग्लैंड पहले स्थान पर है।

ग्रुप-डी में है टीम इंडिया

इस विश्व कप में हर ग्रुप से शीर्ष टीम सीधे क्वार्टर फाइनल में पहुंचेगी और दूसरे तथा तीसरे स्थान की टीमों के बीच क्रॉसओवर मैच होंगे | भारतीय टीम को ग्रुप-डी में स्पेन, इंग्लैंड और वेल्स के साथ रखा गया है | इंग्लैंड ने भी वेल्स को पहले मुकाबले में 5-0 से पराजित किया है | अर्जेंटीना और ऑस्ट्रेलिया की टीम भी अपना पहला मैच जीतने में कामयाब रहीं हैं, अर्जेंटीना ने साउथ अफ्रीका को 1-0, जबकि ऑस्ट्रेलिया ने फ्रांस को 8-0 से रौंद  डाला |

 48 साल का इंतजार खत्म करना चाहेगी टीम इंडिया

भारतीय पुरुष हॉकी टीम की कोशिश दूसरी  बार इन खेलों में गोल्ड मेडल जीतने की है | भारत ने अबतक सिर्फ एक बार हॉकी वर्ल्ड कप का खिताब जीता है | साल 1975 में अजितपाल सिंह की कप्तानी में टीम इंडिया को खिताबी सफलता हाथ लगी थी | इसके अलावा भारतीय टीम साल 1971 के वर्ल्ड कप में ब्रॉन्ज और 1973 के टूर्नामेंट में सिल्वर जीतने में कामयाब रह चुकी है |