ऑस्ट्रेलियाई वर्ल्ड कप चैम्पियन कप्तान माइकल क्लार्क को गर्लफ्रेंड ने सरेआम पीटा, वीडियो वायरल

के-न्यूज/ स्पोर्ट्स, माइकल क्लार्क अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर सुर्खियों मेें रहते हैं. माइकल क्लार्क पर उनकी प्रेमिका जेड यारब्रॉज ने धोखा देने का आरोप लगाया है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो इस समय खूब वायरल हो रहा है जिसमें क्लार्क पर उनकी प्रेमिका थप्पड़ बरसा रही हैं. बाद में क्लार्क जेड यारब्रॉज की बहन जैस्मीन को मुक्का मारते है.

माइकल क्लार्क की निजी जिंदगी में एक बार फिर से भूचाल आया है. माइकल क्लार्क पर उनकी प्रेमिका जेड यारब्रॉज ने धोखा देने का आरोप लगाया है. सोशल मीडिया पर एक वीडियो इस समय खूब वायरल हो रहा है, जिसमें क्लार्क पर उनकी प्रेमिका थप्पड़ बरसा रही हैं. अंत में क्लार्क जेड यारब्रॉज की बहन जैस्मीन को मुक्का मारते हैं. डेली टेलीग्राफ ने क्लार्क और जेड यारब्रॉज के इस झड़प को लेकर पोस्ट भी किया है.

वीडियो माइकल क्लार्क शर्टलेस नजर आ रहे हैं.वीडियो में क्लार्क को अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार करते हुए सुना जा सकता है. क्लार्क वीडियो में कह रहे हैं कि मैं कसम खाता हूं यह सच नहीं है. मैं अपनी बेटी की जिंदगी की कसम खाता हूं.’ रिपोर्टों के अनुसार माइकल क्लार्क अपनी प्रेमिका, यारब्रॉज की बहन जैस्मीन और उसके पति कार्ल स्टेफनोविक के साथ छुट्टी पर थे. बताया जा रहा है कि ये चारों अपने दोस्त के साथ डिनर पर थे, तभी ये विवाद पैदा हुआ. यारब्रॉज की बहन स्मीन ऑस्ट्रेलिया की मशहूर टीवी होस्ट हैं.

क्लार्क की निजी जिंदगी में उथल-पुथल

विश्व कप विजेता ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व कप्तान का नाम सबसे पहले मॉडल लारा बिंगल के साथ जोड़ा गया था. 2007 में में दोनों ने डेटिंग शुरू की थी. साल 2010 में बिंगल की शॉवर वाली तस्वीर सोशल मीडिया पर लीक होने के बाद क्लार्क और बिंगल 2010 में अलग हो गए थे. साल 2012 में माइकल क्लार्क ने काइली बोल्डी से शादी की.

पुलिस कर रही मामले की जांच

फुटेज सामने आने के बाद क्वींसलैंड पुलिस इस पूरी घटना की जांच कर रही है. पुलिस ने गुरुवार शाम को कहा, ‘क्वींसलैंड पुलिस एक 30 वर्षीय महिला और 41 वर्षीय व्यक्ति के बीच हुई घटना की जांच कर रही है. क्लार्क 41 साल के हैं और उनकी गर्लफ्रेंड जेड यारब्रॉज 30 साल की हैं. आपको बता दें कि माइकल क्लार्क की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने 2105 में विश्व कप का खिताब जीता था. क्लार्क ने अपनी टीम को टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर वापस लाने में भी अहम भूमिका निभाई. क्लार्क ने 2011 में रिकी पोंटिंग की जगह कप्तानी का जिम्मा संभाला था. फिर साल 2015 में एशेज सीरीज के बाद उन्होंने रिटायरमेंट की घोषणा की.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.