छात्रों ने लोक सेवा आयोग के सचिव को ज्ञापन देकर आगामी परीक्षा को रद्द करने की करी मांग, पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के किए कड़े बंदोबस्त

देहरादून, उत्तराखंड लोक सेवा आयोग में पटवारी पेपर लीक मामले के बाद एसटीएफ द्वारा कार्रवाई करते हुए 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. उनके पास से केस भी बरामद हुआ इस मामले में शासन ने जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. आज छात्रों द्वारा उत्तराखंड लोक सेवा आयोग के बाहर विरोध प्रदर्शन किया गया. छात्रों के विरोध को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात रहा. छात्रों ने 22 तारीख को फॉरेस्ट गार्ड और 28 से 31 जनवरी तक होने वाली परीक्षा के पेपर जांच करने के बाद परीक्षा कराए जाने की मांग की है. इसको लेकर उनके द्वारा उत्तराखंड लोक सेवा आयोग के सचिव को ज्ञापन भी सौंपा गया.

 

छात्रों का कहना है कि पटवारी का पेपर लीक होने के बाद छात्रों में उत्तराखंड लोक सेवा आयोग के विरुद्ध अविश्वास पनप रहा है कि आने वाली परीक्षा में भी कहीं धांधली तो नहीं हो रही है. इसको देखते हुए उत्तराखंड लोक सेवा आयोग 22 तारीख को होने वाली फॉरेस्ट गार्ड और 28 से 31 तक होने वाली परीक्षा के पेपर की जांच कराकर ही परीक्षा कराई जाए . छात्रों का कहना है कि इन्हीं बातों को लेकर आज हमारे द्वारा उत्तराखंड लोक सेवा आयोग के सचिव को ज्ञापन दिया गया है.

छात्रों का विरोध प्रदर्शन देखते हुए पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हुए थे. हरिद्वार सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह का कहना है कि छात्रों के विरोध को देखते हुए उत्तराखंड लोक सेवा आयोग के बाहर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं. छात्रों द्वारा सचिव को ज्ञापन दिया गया है. छात्रों की मांग है कि आने वाले परीक्षा के पेपर की जांच की जाए उसके बाद ही पेपर कराया जाए. एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार का कहना है कि छात्रों द्वारा शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन किया गया परमिशन लेकर छात्रों ने लोक सेवा आयोग के सचिव को अपना ज्ञापन दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.