छत पर हो रहा अंतिम संस्कार, 69.19 मीटर पहुंचा गंगा का जलस्तर

बुधवार को गंगा का जलस्तर 69.19 मीटर पहुंच गया  गंगा के जलस्तर में दो दिनों से गिरावट दर्ज की जा रही थी लेकिन यह जलस्तर एक बार फिर से बढ़ गया है 
केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार सुबह आठ बजे गंगा का जलस्तर 69.20 मीटर पर स्थिर रहा जो कि बाद में धीमी गति से घटते हुए दिन के 12 बजे 69.17 मीटर पर तक ही पहुंचा था   घटाव का ट्रेंड बना रहा और जलस्तर दोपहर तीन बजे 69.12 मीटर और सायं छह बजे 69.08 मीटर पर पहुंचकर एक बार फिर स्थिर हो गया
वरुणा के पानी से घिरे निचले इलाकों की आबादी जहां पीछे हटता पानी  गंदगी और गाद का ढेर छोड़ रहा है  इसलिए वहा संक्रामक बीमारियां फैलने का खतरा बन गया है
जलस्तर के बढ़ाव और घटाव के बीच तटवासियों की हालत खस्ता हो चुकी है
पानी से घिरने के कारण लगातार नमी सोखने से तटवर्ती इलाकों के मकानों की दीवारों पर दरारें पड़ने लगी हैं
 ग्रामीण इलाकों में गंगा किनारे कई किसानों के खेतों में कटान तेजी से हो रहा, तो किसी के धान की फसल गंगाजल से मग्न हो गई है
अस्सी घाट की गंगा आरती गलियों में हो रही है  मणिकर्णिका और हरिश्चंद्र घाट के शवदाह स्थल अब भी गली और छत ही बने हुए हैं
लोगों का कहना है कि जब तक पानी पूरी तरह से घाटों और बस्तियों को छोड़ नहीं देता, तब तक साफ-सफाई भी कराना मुश्किल है