पीएम मोदी और सीएम योगी खेल महाकुंभ का करेंगे शुभारंभ!

बस्ती,  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 जनवरी को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सांसद खेल महाकुंभ का उद्घाटन करेंगे। बस्ती में शहीद सत्यवान सिंह स्टेडियम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रत्यक्ष रुप से उपस्थित होकर खेल महाकुंभ का शुभारंभ करेंगे। जानकारी देते हुए सांसद हरीश द्विवेदी ने बताया कि बस्ती के खेल प्रेमियों खिलाड़ियों और सम्मानित नागरिकों के लिए बहुत हर्ष का विषय है की बस्ती में 18 जनवरी से शुरू होने वाले सांसद खेल महाकुंभ का उद्घाटन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा किया जाएगा। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल माध्यम से हम सभी को अपना आशीर्वाद प्रदान करेंगे. साथ ही इस वृहद आयोजन का उद्घाटन करेंगे। हरीश द्विवेदी ने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 18 जनवरी को बस्ती में आएंगे। मुख्यमंत्री शहीद सत्यवान सिंह स्टेडियम में आयोजित खेल महाकुंभ का शुभारंभ करके हम सभी का उत्साहवर्धन करेंगे। सांसद हरीश द्विवेदी ने कहा कि हम सभी सौभाग्यशाली हैं कि इस आयोजन में विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता तथा सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री का स्नेह व आशीर्वाद मिलेगा।

वहीं सांसद हरीश द्विवेदी ने सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर भी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अभी हाल ही में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने मुश्लिम समुदाय को लेकर कहा है कि मुसलमान इस्लाम को देश में कोई खतरा नहीं है मगर उन्हें हम बड़े है का भाव छोड़ना होगा वाले बयान का वे पूर्ण समर्थन करते है और भागवत जी के इस बयान के बाद अखिलेश यादव ने जो प्रतिक्रिया दी है वो उनकी मानसिकता को दर्शाती है, ट्विटर पर उनके सिपहसालार नही बल्कि खुद अखिलेश यादव ने महिलाओं के प्रति अभद्र टिप्पणी कर ये साबित कर दिया है कि वे महिलाओं को लेकर क्या सोचते है। वही राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर कहा कि राहुल गांधी जिस तरह से एक छोटे बच्चे को उल्टा जनेऊ पहनाकर सनातनी का अपमान किया है वो देश की जनता देख रही है, राहुल गांधी के पुजारियों वाले बयान पर कहा कि हमारा देश पुजारियों का भी, तपश्वियो और सनातनियो का भी है मगर राहुल गांधी पुजारियों का अपमान कर रहे है, भारत जोड़ो यात्रा कर वे तपस्या कर रहे है, और उन्हें लगता है कि भारत के लोग उनकी पार्टी से जुड़ रहे है लेकिन जनता सब जानती है कि कौन देश के लोगो के लिए सोचता और और कौन सिर्फ परिवार की राजनीति करता है।