अभी नहीं ,अभी नहीं यूपी में चुनाव,अभी नहीं : BJP प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने उच्चतम न्यायालय द्वारा उत्तर प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव के सबंध में दिये गए आदेश का स्वागत किया।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने बुधवार को कहा कि भाजपा और भाजपा सरकार पिछडे़ वर्ग के साथ ही सभी वर्गो के आरक्षण सहित सभी हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर पिछड़ा वर्ग सहित सभी वर्गों के हितों की रक्षा के संकल्प को पूरा किया है। भाजपा की सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास की नीति है। जबकि अखिलेश यादव की नीति परिवार और अपने रिश्तेदारों के विकास तक सीमित है।
भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने कहा कि पिछडे़ व दलितों सहित समाज के सभी वर्गों को सपा-बसपा कांग्रेस ने भ्रम फैलाकर छलने का काम किया है। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने पिछड़ा वर्ग के सहयोग से सत्ता प्राप्त की लेकिन सत्ता का लाभ सैफई कुनवे तथा उनके कुछ चहेते लोगो तक सीमित रहा।

उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हाईकोर्ट में रिट दायर करके नगरीय निकाय चुनाव में पिछड़ा वर्ग आरक्षण को समाप्त करने का षडयंत्र रचा। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी केे स्लिीपर सेल्स ने हाईकोर्ट में जाकर पिछडे़ वर्ग के हितों को बाधित करने का काम किया। अखिलेश यादव को पिछड़ा वर्ग विरोधी षडयंत्र के लिए प्रदेश की जनता से माफी मांगना चाहिए…समाजवादी पार्टी द्वारा सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट को लागू करने का विरोध सपा के पिछड़ा वर्ग विरोधी होने का सबसे बड़ा प्रमाण है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव बताएं कि बिहार में नितीश कुमार के साथ उनके क्या संबध है और बिहार में बिना पिछड़ा वर्ग आरक्षण के नगरीय निकाय चुनाव का विरोध उनकी पार्टी ने क्यों नहीं किया।
‌‌ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सपा-बसपा तथा कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दल झूठ, भ्रम व फरेब की अपनी परम्परागत राजनीति से सत्ता प्राप्त करने के मंसूबे पाले हुए हैं। लेकिन जनता इनके खतरनाक मंसूबे कभी पूरे नहीं होने देगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश न भूला है, ना भूलेगा, अखिलेश यादव सरकार में पिछड़ों व अनुसूचित वर्ग का दमन तथा परिवारवाद, जातिवाद व तुष्टीकरण की घिनौनी राजनीति।