घरेलू निवेशकों को लुभाने मुंबई पहुंचे सीएम योगी

*देसी निवेशकों को साधने चार जनवरी को मुंबई पहुचें सीएम योगी*

*देश के बड़े उद्योग समूहों के प्रतिनिधियों से करेंगे मुलाकात*

*जीआईएस को लेकर घरेलू रोड शो की कमान संभालेंगे योगी*

 

 लखनऊ। ग्लोबल इन्वेटर्स समिट (जीआईएस-23) को लेकर 16 देशों में हुए रोड शो की सफलता के बाद घरेलू रोड शो की कमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद संभालेंगे। 5 जनवरी से 27 जनवरी तक देश के नौ बड़े शहरों में होने जा रहे इन रोड शो की शुरुआत मुंबई से होगी, जहां सीएम योगी दो दिन यानी 4 और 5 जनवरी को आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे और देसी निवेशकों को साधेंगे। इस दौरान वह बीमारू राज्य से विकासशील राज्य बन चुके उत्तर प्रदेश की तस्वीर रखेंगे और देश के बड़े उद्योग समूहों के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर उन्हें यूपी में निवेश का न्योता देंगे।

 

सीएम योगी चार जनवरी की दोपहर में राजधानी लखनऊ से मुम्बई के लिए उड़ान भरेंगे, जहां पहुंचने के बाद वह शाम को महाराष्ट्र में रह रहे उत्तर प्रदेश के प्रवासियों से मुलाकात करेंगे और नये उत्तर प्रदेश के बारे में बताएंगे। सीएम योगी की फिल्म जगत के कलाकारों एवं निर्माताओं से भी मुलाकात होगी। इस दौरान वह उनसे उत्तर प्रदेश में बन रही फिल्म सिटी की संभावनाओं को लेकर चर्चा करेंगे। इसके अलावा सीएम योगी उन्हें ग्लोबल इन्वेटर्स समिट के बारे में जानकारी देंगे। उन्हें यह भी बताएंगे कि किस तरह से यूपी देश में वैश्विक निवेश का एक बेहतर गंतव्य बनकर उभरा है और दुनिया भर के निवेश यूपी में निवेश को इच्छुक हैं।

 

इन कम्पनियों के प्रतिनिधियों से करेंगे मुलाकात

05 जनवरी को सीएम योगी के दौरे की शुरुआत सुबह के समय बैंकर्स और फिनटेक क्षेत्र से जुड़े लोगों से संवाद से होगी। इसके बाद वह मुंबई रोड शो में भाग लेंगे। यहां टाटा समूह, रिलायंस इंडस्ट्रीज, महिन्द्रा, गोदरेज, आदित्य बिरला समूह, पिरामल इंटरप्राइजेज, पार्ले एग्रो, जेएसडब्ल्यू ग्रुप और स्टार एडं डिजनी समूह के प्रतिनिधियों भेंट करेंगे। जबकि अन्य दौरों में, हिंदुजा ग्रुप, हिंदुस्तान यूनी लिवर, अडानी ग्रुप, हीरानंदानी ग्रुप, टोरेंट पॉवर, वॉकहार्ड, इंडियन मर्चेंट्स चैम्बर्स, ध्रुवा एडवाईजर्स, केकेआर इंडिया, हिंदुजा ग्रुप, एवर स्टोन ग्रुप, हीरो साइकिल, आरपीजी इंटरप्राइज, एल एंड टी, रैमकी ग्रुप ऑफ कम्पनी आदि बड़े औद्योगिक समूहों, कंपनियों से वार्ता करेंगे।