लोकसभा चुनाव का जायजा लेने कौशांबी पहुंचे अनिल राजभर, कांग्रेस और सपा पर जमकर साधा निशाना, कहा -“ईवीएम मशीन पर आरोप लगाना उनका पुराना फैशन”

रिपोर्ट –  अनिरुद्ध पांडेय

उत्तर प्रदेश – कौशांबी में लोकसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा।

ईवीएम मशीन पर आरोप लगाना उनका पुराना फैशन

दरअसल राहुल गांधी ने सोशल मीडिया साइट एक्स पर ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘नरेंद्र मोदी मैच फिक्सिंग से चुनाव जीत कर संविधान बदलना चाहते हैं और प्लेयर खरीद कर कैप्टन को डराकर, अंपायर पर दबाव डाल कर EVM के दम पर 400 पार का नारा लगा रहे हैं, जबकि हकीकत में सब मिलाकर भी वह 180 पार करने की हालत में नहीं हैं। इस ट्वीट पर कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि मुझे लगता है कि राहुल गांधी को दूसरा कोई बहाना खोजना चाहिए। ईवीएम मशीन पर आरोप लगाना उनका पुराना फैशन है। इस तरह के आरोप देश की जनता सुनते सुनते ऊब गया है। राहुल गांधी जैसे लोग संविधान की बात कर रहें है तो बड़ी आश्चर्य की बात है। मैं समझता हूँ कि देश ने यह तय कर लिया है की तीसरी बार ऐसी सरकार बनने जा रही है जो पूरी दुनिया मे नहीं बनी होगी।

पीएम मोदी के सरकार के पुरुषार्थ का परिणाम

वहीं प्रियंका गांधी के भगवान श्रीराम के आदर्शों पर दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी इस तरह की बात करती रहतीं है। पीएम मोदी के सरकार के पुरुषार्थ का परिणाम है कि जो लोग कभी भगवान श्री राम के अस्तित्व को ही नकारा करते थे, आज वो लोग भी भगवान राम को याद कर रहें है, उनके जीवन पर प्रकाश डाल रहें है। हम लोग तो बार बार कहतें है कि मोदी जी का यह काल खंड सनातन को हजारों वर्ष के लिए स्थापित कर रहा है। हमारी संस्कृतियों और परंपराओं को मजबूती प्रदान कर रहा, नहीं यह लोग तो भगवान राम को ही नहीं मानते थे। उनके अस्तित्व को ही नहीं स्वीकारते थे। भगवान राम के द्वारा बनाया गया श्रीलंका और भारत के बीच जो पुल है, उस पर कैसे बयान कांग्रेसियों ने दिए हैं, वो दिन भारतवासी भूल नहीं सकता है।

समाजवादी पार्टी से सीखना पड़े तो इससे बड़ा कोई दुर्भाग्य नहीं

अखिलेश यादव के द्वारा सोशल मीडिया साइट एक्स पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी की तस्वीर शेयर करते हुए ‘देश की प्रथम नागरिक महामहिम ‘राष्ट्रपति’ जी का मान-सम्मान सर्व प्रथम और सर्वोपरि होना चाहिए’ के बयान पर अनिल राजभर ने कहा कि छोटी-छोटी बात के अलावा और कोई मुद्दा इनके पास हैं ही नहीं। जब राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को बीजेपी ने देश का राष्ट्रपति बनाया तब इन लोगों  ने किस तरह के बयान दिए थे, ये भी किसी से छिपा नहीं है। अगर संस्कार समाजवादी पार्टी से सीखना पड़े तो मैं समझता हूँ इससे बड़ा कोई दुर्भाग्य नहीं है। माफिया मुख्तार अंसारी के मौत पर विपक्ष ने जो आरोप लगाया है उस पर उन्होंने कहा कि परिवार ने जो आरोप लगाया है सरकार ने उसे माना है। सरकार ने इस मामले में जांच बैठाई है। विपक्ष के लोगो को जांच रिपोर्ट आने तक इंतजार करना चाहिए। जांच रिपोर्ट आने के बाद दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

रैली में मौजूद सारे नेता सिर्फ फ्रस्टेशन निकाल रहे

कल दिल्ली में हुए इंडी गटबंधन के बैठक पर कहा कि ये सब जानते हैं कि आज नहीं तो कल हमको भी जाना है। हमारी जान कैसे बचें उन्हें इसी बात की छटपटाहट है। रैली में मौजूद सारे नेताओं के भाषण आपने भी सुना होगा। वो सिर्फ फ्रस्टेशन निकाल रहे है, जो देश की संपत्ति को लूटकर बेचारा बनने का नाटक करेगा और सरकार और एजेंसियां आपको छोड़ देगी तो ऐसा नहीं होगा। मोदी जी के काल खंड में एजेंसियां पूरी तरह से स्वतंत्र है और वह निष्पक्ष तरीके से अपनी कार्रवाई को आगे बढ़ा रही है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.