प्राकृतिक आपदा या प्रशासन की अनदेखी किसके चलते हुए लखनऊ हादसा….

के न्यूज़\लखनऊ – उत्तर प्रदेश के लखनऊ में अलाया अपार्टमेंट के ढहने के बाद प्रशासन एक्शन में है। बता दे की अलाया अपार्टमेंट के मलबे में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए सेना, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम की मदद ली जा रही है.  अब तक 14 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला जा चुका है। पूरे मामले में अब लखनऊ की कमिश्नर रोशन जैकब ऐक्शन ने पूरे मामले की जानकारी लेते हुए कहा कि भवन मालिक मोहम्मद तारिक, नवाजिश शाहिद पर कार्रवाई होगी  साथ ही, उस अपार्टमेंट के बिल्डर्स यजदान पर तत्काल मुकदमा रजिस्टर्ड करने के निर्देश दिए और योगदान बिल्डर के चल रहे प्रोजेक्ट्स के ऑडिट कराने का आदेश करा है. और अवैध निर्माणों को तोड़ने और घटिया कंस्ट्रक्शन वाले मकानों को भी चिन्हित करने के निर्देश दिए। कमिश्नर ने प्राथमिकता के आधार पर इस कार्रवाई को पूरा कराने का निर्देश दिया है।

आपको बता दे ताज़ा खबर के अनुसार दो महिलाओ की मौत इस हादसे में हों चुकी है|

ख़राब मौसम के कारण रहत बचाव कार्यो में समस्या आ रही है|

लखनऊ की इस दुखद घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसका संज्ञान लिया है. जहां एक तरफ रेस्क्यू ऑपरेशन हल रहा है वहीं दूसरी तरफ इसके जिम्मेदार लोगों के खिलाफ एक्शन भी शुरू हो गया है. इस मामले में सपा के  विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश का नाम सामने आया है जिसे पुलिस ने मेरठ से हिरासत में लिया है. और देर रात पूछताछ के बाद नवाजिश को लखनऊ के लिए भेज दिया है|

 

इस अपार्टमेंट के मलबे में सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैदर अब्बास का परिवार भी फंसा है| सपा विधायक रविदास मेहरोत्रा ने बताया कि,” राहत की बात यह है कि अभी वह जीवित हैं, समय पर कार्रवाई हो तो उन्‍हें सकुशल निकाला जा सकता है|”

बता दे की वजीरगंज हसन रोड पर स्थित अलाया अपार्टमेंट मंगलवार की शाम अचानक ढह गई बताया जा रहा है की कमजोर नींव वाले मकान के बेसमेंट में बैंक्वेट हॉल बनाने के लिए खुदाई का कार्य किया जा रहा था जिससे इसकी नींव और भी कमजोर हों गयी थी। मंगलवार को दोपहर में आए भूकंप के झटकों ने इस कमजोर नींव वाले मकान को हिला दिया और इसमें कई दरारे आ गयी थी।जिसके चलते शाम तक बिल्डिंग धराशायी हो गई।

लखनऊ की इस दुखद घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसका संज्ञान लिया है. जहां एक तरफ रेस्क्यू ऑपरेशन हल रहा है वहीं दूसरी तरफ इसके जिम्मेदार लोगों के खिलाफ एक्शन भी शुरू हो गया है. इस मामले में सपा के  विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश का नाम सामने आया है जिसे पुलिस ने मेरठ से हिरासत में लिया है. और देर रात पूछताछ के बाद नवाजिश को लखनऊ के लिए भेज दिया है

डीजीपी डीएस चौहान ने बताया कि,”अभी इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. नवाजिश को हिरासत में लिया गया है, अभी हमारा पूरा ध्यान रेस्क्यू ऑपरेशन पर हैं, इस मामले में अभी एफआईआर करवाई जाएगी, जांच में जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा|”

सूत्रों से पता चला की लखनऊ हादसे में सपा प्रवक्ता अब्बास हैदर की माँ बेगम हैदर का निधन हो गया. रेस्क्यू के बाद उनको सिविल अस्पताल में लाया गया था जहा तमाम प्रयास के बाद भी डॉक्टर्स के उन्हें नहीं बचा सके|

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने बताया कि,”कारणों का पता लगने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है, अभी हमारी प्राथमिकता घायलों को जीवित बचाने की है, उन्हें बेहतर उपचार मुहैया कराने की है, सभी घायलों को मुफ्त इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है|”

रेस्क्यू के दौरान किचान में फसी महिला को सकुशल बाहर निकलने के बाद एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमो ने उनका ताली बजाकर उनका स्वागत किया|

डीजीपी डीएस चौहान ने कहा,”सभी को सकुशल निकाला जाएगा, उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए ड्रिल किया जा रहा है,उनका कहना है की यह घटना  प्राकृतिक आपदा के चलते हुई है|”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि,” लखनऊ में अलाया अपार्टमेंट गिरने की घटना बेहद दुखद है, जिन्होंने अपनों को खोया है, उनके प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं| घटना के संदर्भ में जिलाधिकारी ने मुझे स्थिति की जानकारी दी है, राज्य सरकार की देखरेख में प्रशासन हरसंभव मदद में जुटा है| सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं|”

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.