न्यूजीलैंड की सबसे युवा पीएम जैसिंडा अर्डर्न देंगी इस्तीफा, वजह जानकर चौंक जायेंगे आप..

वेलिंग्टन। राजनीति हो या दफ्तर कुर्सी की मारामारी हर तरफ है.. एक बार जो कुर्सी पर बैठ गया तो वो हटने के बारे में तो सोचता ही नहीं। … और अगर वो कुर्सी देश के प्रधानमन्त्री की हो तब तो आप जानते ही हैं. कुर्सी को बचाने और कुर्सी से हटाने की कवायद हर रोज़ चलती है. लेकिन आज आपको एक ऐसी प्रधानमंत्री के बारे में बताने जा रहे हैं उन्होंने खुद प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. और वजह जानकार तो आप चौंक ही जाएंगे. उन्होंने इस्तीफ़ा काम से थक जाने की वजह से दिया है. जी हाँ… थक जाने की वजह से .. हम बात कर रहे हैं न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न की…

37 साल की उम्र में प्रधानमंत्री बनने वाली न्यूजीलैंड की सबसे युवा पीएम जैसिंडा अर्डर्न ने इस्तीफा देने की घोषणा की है। वह अगले महीने पद छोड़ देंगी। इस्तीफा की घोषणा करते वक्त जैसिंडा रो पड़ीं। वह अगला चुनाव भी नहीं लड़ेंगी। जैसिंडा ने घोषणा की कि वह फरवरी में इस्तीफा दे देंगी। छह साल तक न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री रहीं जैसिंडा ने कहा कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगी। उन्होंने अपनी लेबर पार्टी के सदस्यों से कहा कि मेरे लिए इस्तीफा देने का वक्त आ गया है। मैं अब और न्यूजीलैंड का नेतृत्व करने में सक्षम नहीं हूं।” अपने आंसू रोकते हुए जैसिंडा ने कहा, “प्रधानमंत्री के रूप में साढ़े पांच साल कठिन रहे। मैं भी इंसान हूं। अब मुझे अलग हटने की जरूरत है। मुझे पता है कि इस फैसले के बाद इस बात की बहुत चर्चा होगी कि इस्तीफा देने का तथाकथित ‘असली’ कारण क्या था। इसका एकमात्र कारण है कि छह साल लगातार बड़ी चुनौतियों का सामना करने के बाद मैं थक गई हूं। मैं भी एक इंसान हूं। राजनेता इंसान होते हैं। मुझसे जितना संभव था मैंने दिया। जितनी देर तक नेतृत्व कर सकती थी मैंने किया.. मेरे लिए अब दूर हटने का समय आ गया है।”

 

आपको बता दें कि न्यूजीलैंड में लेबर पार्टी की सरकार है। जैसिंडा अर्डर्न के इस्तीफा देने की घोषणा के बाद नए नेता को चुनने के लिए रविवार को पार्टी के अंदर वोटिंग होगी। जो व्यक्ति पार्टी का नेता चुना जाएगा वह अगले आम चुनाव तक प्रधानमंत्री रहेगा। नेता के रूप में अर्डर्न का कार्यकाल 7 फरवरी तक समाप्त हो जाएगा। 14 अक्टूबर 2023 को आम चुनाव होंगे।

जैसिंडा आर्डर्न की बात करें तो 26 जुलाई 1980 को न्यूजीलैंड के हैमिल्टन में उनका जन्म हुआ था। उनके पिता रॉस आर्डर्न पुलिस ऑफिसर थे। 18 साल की उम्र में ही जैसिंडा राजनीति में आ गईं थी। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री हेलेन क्लार्क के ऑफिस में सहायक के रूप में काम किया था। इसके बाद वह टोनी ब्लेयर की सरकार में नीति सलाहकार के रूप में काम करने के लिए ब्रिटेन गईं थी। साल 2008 में वे सांसद चुनी गईं और मार्च 2017 में लेबर पार्टी की उप नेता बनीं। साल 2017 में ही वे 37 साल की उम्र में न्यूजीलैंड की सबसे कम उम्र की पीएम बनीं थीं।

जेसिंडा अर्डर्न पीएम पद पर रहते हुए मां बनने वालीं दुनिया की दूसरी प्रधानमंत्री बनीं थीं। क्राइस्टचर्च मस्जिद गोलीबारी के बाद जैसिंडा अर्डर्न ने न्यूजीलैंड को संभाला था। उन्हें कोरोना महामारी के दौरान बेहतर काम करने के लिए दुनियाभर में प्रसिद्धि मिली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.