आसरा आवास योजना में घोटाले को लेकर लोगों ने किया प्रदर्शन, जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर डूडा विभाग के खिलाफ की शिकायत

रिपोर्ट – अभिनव शुक्ला 

कानपुर – आसरा आवास योजना में घोटाले को लेकर अब जगह-जगह प्रदर्शन किए जा रहे हैं | इसी के चलते कानपुर में जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर सैकड़ों से अधिक पुरूष व महिलाओं ने एक ज्ञापन सौंपकर डूडा विभाग के खिलाफ शिकायत की है | उन सभी का ये आरोप है कि डूडा विभाग की मिलीभगत से जानबूझकर कर उनको कॉलोनी आवंटित नहीं की गयी जो कि सरासर नाइंसाफी है, तो वहीं सैकड़ों से अधिक विकलांगों ने डीएम कार्यालय पहुंचकर खाट बिछाओ प्रदर्शन किया, उनका कहना था कि गरीब दिव्यांगजनों  के लिए बने आसरा आवास योजना में दिव्यांग कोटा खत्म कर दिया गया है|

गरीबों के नामों को काट दिया जाता है

आपको बता दें कि मीडिया से बातचीत के दौरान पीड़ित मंटू सिंह चौहान ने बताया कि आसरा आवास योजना में अपने मिलने वाले लोगों को डूडा विभाग शामिल कर लेता है और गरीबों के नामों को काट दिया जाता है | जबकि ये सभी गरीब वर्ष 2016 से आवेदन कर रहें हैं | इसमें डूडा विभाग जानबूझकर कर ये सब कर रहा है| जिसमें डूडा के सभी कर्मचारी मिले हुए हैं |

दिव्यांग व्यक्तियों का कोटा नहीं किया गया लागू

जनपद कानपुर नगर में 30 जनवरी को आसरा आवास के पात्र व्यक्तियों को आवास देने के लिये लॉटरी निकाली गयी थी। जिसमें केवल अनुसूचित जाति व सामान्य वर्ग के व्यक्तियों की लॉटरी निकाली गयी, दिव्यांग व्यक्तियों का कोटा नहीं लागू किया गया है| ये दिव्यांग व्यक्तियों के साथ अन्याय हुआ है |

इसी संबंध में राष्ट्रीय दिव्यांग पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार ने जिलाधिकारी से मिलकर एक ज्ञापन सौंपा और आसरा आवास में दिव्यांगों को भी उनका अधिकार दिलाने के बाद कही वहीं मीडिया से बातचीत के दौरान वीरेंद्र कुमार ने बताया कि आज खाट जिलाधिकारी कार्यालय में बिछायी और ओर यही खाट अब मुख्यमंत्री आवास के बाहर बिछायी जाएगी |

 

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.