सीएम योगी ने मुंबई में उत्तर प्रदेश के लिए जुटाया 5 लाख करोड़ का निवेश

के न्यूज, लखनऊ,  मुंबई में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारत के शीर्ष औद्योगिक समूहों से मुलाकात की. शीर्ष औद्यौगिक पतियों से मिलकर सीएम योगी ने राज्य के लिए  पांच लाख करोड़ रूपये का निवेश जुटाया लिया है. शीर्ष औद्योगिक समूहोे से बैठक पर प्रस्तावों पर सहमति बन चुकी है. जीआइएस-2023में औपचारिकता पूरी कर ली जाएंगी.

सीएम योगी के दो दिवसीय मुंबई दौरे में  करीब 24 से ज्याद अद्यौगिक समूह के मालिकों से मुलाकात की. जिनसे कुल मिलाकर 5 लाख करोड़  रूपये का निवेश यूपी की ओर आकर्षित हो चुका है. मुलाकत में कई प्रस्तावों में सहमति बन चुकी है.  इन प्रस्तावों को अमली जमा पहनाने के लिए 10 से 12 फरवरी तक आयोजित यूपी ग्लोबल इन्वस्टर्स में औपचारिकता पूरी कर ली जाएंगी.

यूपी में 5 जी इंटरनेट कनेक्टिविटी देगा जियो

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने पूरे उत्तर प्रदेश में 5जी इंटरनेट कनेक्टिविटी  पहुंचाने और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से प्रदेश के गांवों तक बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जियों सेंटर सहित इलेक्ट्रानिक्स मैन्युफैक्चरिंग और ग्रीन एनर्जी सेक्टर में बड़े निवेश का प्रस्ताव दिया है. इस प्रस्ताव पर सरकार और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच प्रस्ताव में सहमति बन गई. फरवरी 2023 में होने वाले ग्लोबल इन्वस्टर्स में औपचारिकता  पूरी कर ली जाएंगी. जिसके बाद  जो इस योजना पर काम करना शुरू कर देगी.

आदाणी समूह ने मेडिकल कालेजों के विकास में दिखाई रूचि

सीएम योगी से अदाणी समूह के करन अदाणी ने वेयरहासिंग और लाजिस्टिक सेक्टर में बड़े निवेश की इच्छा जताई है. जिसको लेकर सीएम योगी और करन अदाणी के बीच निवेश पर चर्चा भी हुई है. साथ ही सात जगहों पर सिमेट फैक्टरी लगाने पर चर्चा की गई. लखनऊ में स्थित चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट के विस्तार के लिए बनी योजना को भी साझा किया. यूपी डिफेंस कारिडोर में ब्राजील के बाद दुनिया का सबसे बड़ा एम्युनिशन हब बनाने पर विस्तार से चर्चा हुई. करन आदणी ने बलिया और श्रावस्ती में पीपीपी मोड पर मेडिकल कालेज की स्थापना का प्रस्ताव रखा. साइलोज, स्मार्ट मीटर मैन्युफैक्चरिंंग ने भी समूह पर निवेश करेगा. कुशल मानव संशाधन की जरूरत बताते हुए करन अदाणी ने नोएडा में 10 हजार युवाओं की क्षमता वाला कौशल विकास केंद्र स्थापित करने का भी प्रस्ताव रखा.

पिछले इन्वेस्टर्स समिट में मिला था इतना निवेश 

पिछले इन्वेस्चर्स समिट में उत्तर प्रदेश को कुल मिलाकर 4.68 लाख करोड़ के निवेश समझौते हुए थे. पिछले पांच साल में इसमें से चार लाख करोड़ की परियोजनाएं तो लग भी चुकी है। ये डाटा सीएम योगी ने खुद बताया.