सीएम योगी की नौ कार्य योजना से बाढ़ से सुरक्षित हुए सैकड़ों गांव, बदायूं डीएम ने जनपद का किया दौरा, किसी तटबंध पर कटान के हालात नहीं

रिपोर्ट – रितेश चौहान 

उत्तर प्रदेश – गत वर्ष बदायूं के जनप्रतिनिधियों की मांग पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बदायूं आगमन पर नौ कार्य योजना की स्वीकृति की घोषणा की थी| बाढ़ विभाग द्वारा सभी नौ कार्य बरसात आने से पूर्व पूरे करा लिए गए, गत दिनों प्रदेश के जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने भी बाढ़ संभावित स्थल का दौरा किया और कराए गए कार्य से संतुष्ट नजर आए| नरौरा डैम से पानी छुटने से काफी जल स्तर बढ़ा लेकिन बाढ़ विभाग द्वारा कराए कार्य की वजह से किसी स्थान पर बाढ़ की स्थिति नहीं बनी|

दरअसल आपको बता दें कि बदायूं में गंगा नदी, राम गंगा और महावा नदी से हर वर्ष बाढ़ की भयावह स्थिति बनती थी, इस वर्ष संभावित क्षेत्रों पर जिलाधिकारी ने भ्रमण कर स्थिति को देखा और अधीनस्थों को निर्देशित भी किया| आज पथरामई तटबंध पर जिलाधिकारी मनोज कुमार सिंह पहुंचे और बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया |

आपको बता दें पिछली वर्ष पथरामई सबसे संवेदनशील हो गया था, जिसकी सुरक्षा प्रशासन को चुनौती बन गयी थी| इस वर्ष कराया गया कार्य काफी प्रभावी हुआ जिससे गंगा की मुख्य धारा लगभग 200 मीटर स्थानांतरित हुई, जबकि पथरामई घाट ऐसा संवेदनशील प्वाइंट है कि यहां पर तटबंध को खतरा होता है तो लगभग 200 से भी ज्यादा गांव जलमग्न हो सकते हैं|

जिलाधिकारी मनोज कुमार ने कहा प्रशासन लगातार संवेदनशील स्थलों की गहन निगरानी करता रहा है| वर्तमान में जिले में बाढ़ और कटान की कोई स्थिति नहीं है, प्रशासन लगातार इन गांवों में जाकर चौपाल कर आम जनमानस की समस्या को देख कर राहत बचाव के प्रबंध कर रहा है|

 

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.