दीपोत्सव में पहली बार राम मंदिर का दर्शन कराएगी योगी सरकार, 7 देशों के कलाकार करेंगे रामलीला

राम नगरी अयोध्या इस बार मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के गर्भगृह स्थल पर भी 51000 दीप प्रज्वलित किए जाएंगे।

राम नगरी अयोध्या में एक बार फिर दीपोत्सव की तैयारियां जोरों पर चल रही है योगी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल के पहले दीपोत्सव को बहुत ही भव्य तरह से मनाने की तैयारी शुरू कर दी हैं। जिसमे इस वर्ष योगी के दूसरे कार्यकाल का जश्न भी दिखाई देगा। अयोध्या में इस बार 21,22 व 23 अक्टूबर को तीन दिवसीय दीपोत्सव का आयोजन किया जाएगा। जिसमे झांकियां निकाली जाएगी, देश विदेश की रामलीलाओं का भी आयोजन किया जाएगा। और इस बार राम मंदिर के नाम होगा।

दीपोत्सव में पहली बार राम मंदिर का भी दर्शन कराएगी योगी सरकार,

7 देशों के कलाकार करेंगे रामलीला

राम मंदिर के गर्भगृह पर जलेंगे 51 हजार दीप
अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है 5 अगस्त 2020 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन किया गया था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जाने के बाद यह तीसरा दीपोत्सव होगा जब भगवान श्री राम के गर्भ गृह निर्माण की प्रक्रिया भी शुरू होती है। इस बार दीपोत्सव में राम की पैड़ी पर 14 लाख से अधिक दीप प्रज्वलित किए जाने की तैयारी की जा रही है। तो वही राम मंदिर के गर्भगृह स्थल पर भी 51 हजार दीप जलाये जाएंगे। इस बार 21,22 व 23 अक्टूबर को तीन दिवसीय आयोजन में सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाएंगे।

अयोध्या में निकाली जाएगी राम मंदिर की झांकी

अयोध्या में भगवान श्री राम लला की भव्य राम मंदिर मॉडल इस बार दीपोत्सव की झांकी का आकर्षण होगा,दरसल साकेत महाविद्यालय से नया घाट तक के लिए रामायण के प्रसंगों पर आधारित 11 झांकियों को निकाला जाएगा। जिसमे दो और झांकियों को जोड़ा जाएगा। पहला राम मंदिर मॉडल का शुरू होगा तो वही दूसरा केंद्र व प्रदेश सरकार के द्वारा अयोध्या के विकास मॉडल पर बने प्लान 2047 का भी दृश्य झांकियों के माध्यम से दिखाया जाएगा। अयोध्या सूचना उपनिदेशक मुरलीधर ने जानकारी देते हुए बताया कि इस बार दीपोत्सव में भव्य झांकी का आयोजन रामायण के 11 प्रसंगों के साथ अयोध्या के विकास का मॉडल भी प्रस्तुत होगा। तो वही इस बार राम मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है ऐसे में दीपोत्सव के दौरान अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं ( राम भक्तों) को राम मंदिर के मॉडल का भी दर्शन मिले सकेगा।

भगवान श्री रामलला पुष्पक विमान रूपी हेलीकॉप्टर से अयोध्या के सरयू तट पर पहुंचेंगे जहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित कई प्रमुख अतिथि भगवान का स्वागत करेंगे तो वही राम कथा पार्क में भगवान श्री राम का राज्याभिषेक किया जाएगा। तो वहीं इस पल के साक्षी बनने के लिए लाखों की संख्या में लोग मौजूद होंगे। दूरदराज से आने वाले लोगों को अयोध्या ही नहीं बल्कि देश दुनिया की संस्कृति से भी रूबरू हो इसके लिए 7 देशों की रामलीला का भी आयोजन किया जाएगा। जिसमें इंडोनेशिया, कंबोडिया, थाईलैंड, श्रीलंका सहित अन्य प्रमुख देश के कलाकार शामिल होंगे। संस्कृत विभाग के अधिकारी राम तीरथ ने बताया कि दोस्तों के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा तो ही 7 देशों की रामलीला का भी मंचन कराया जाएगा इसके लिए अब तक 4 देशों की सहमति मिल चुकी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दूसरे कार्यकाल के पहले दीपोत्सव को भव्य और दिव्य बनाने के लिए लगातार अधिकारियों को निर्देश जारी करते रहते हैं। जल्द ही सीएम योगी अयोध्या दौरे पर होंगे और दीपोत्सव की तैयारियों का जायजा भी लेंगे। बताया जा रहा है कि सीएम योगी दीपोत्सव को भव्य और दिव्य बनाने के साथ-साथ अयोध्या में चल रहे विकास कार्यों योजनाओं और परियोजनाओं का भी निरीक्षण करेंगे अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे अयोध्या के चौमुखी विकास में लापरवाही करने वाले अधिकारियों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हंटर भी चला सकते हैं।

वैसे तो अयोध्या में दीपोत्सव 2017 से लगातार हो रहा है उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद सीएम योगी लगाता अयोध्या के विकास को लेकर संवेदनशील रहे हैं और हर साल भव्य और दिव्य दीपोत्सव व रामलीला कराते आए हैं लेकिन इस बार का दीपोत्सव कुछ मायनों में बहुत महत्वपूर्ण है राम मंदिर का निर्माण कार्य तेज गति से चल रहा है लाखों-करोड़ों राम भक्तों के सपने साकार हो रहे हैं अयोध्या में भव्य और दिव्य भगवान श्री राम का मंदिर निर्माण कार्य द्रुत गति से चल रहा है ऐसे में इस बार का दीपोत्सव भी कई मायनों में महत्वपूर्ण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हर वर्ष की भांति इस वर्ष के दीपोत्सव को और भी दिव्य और भव्य बनाने पर जोर दिए हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दीपोत्सव को भव्य और दिव्य बनाने के लिए लगातार अधिकारियों प्रगति रिपोर्ट लेते रहते हैं जिस तरह से अब और दिव्य मंदिर निर्माण हो रहा है उसी तरह इस बार दीपोत्सव को भव्य और दिव्य बनाने का कार्य तेज गति से हो रहा है।