श्रीलंका को वापास लौट सकते है राजपक्षे

कैबिनेट प्रवक्ता बंडुला गुणवर्धने ने मंगलवार को जानकारी दी है, श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति गोटाबाया कहीं छुपे नहीं है और वो सिंगापूर से स्वदेश वापस लौट सकते है।

राजपक्षे 13 जुलाई को मालदीव भागकर गए थे और अगले दिन वो वह से सिंगापूर को रवाना हो गए थे साप्ताहिक कैबिनेट मीडिया ब्रीफिंग में राजपक्षे के बारे में पूछे जाने पर कैबिनेट मंत्री गुणवर्धने ने कहा की राजपक्षे कहीं भागे नहीं है और उनकी श्रीलंका वापस आने की संभावना है। उन्होंने कहा वो एस नहीं मानते की राजपक्षे देश छोड़कर भागे है और कहीं छुपे हुए है। गुणवर्धने परिवहन एवं राजमार्ग और मास मीडिया मंत्री भी है। उन्होंने राजपक्षे वापसी के बारे में कोई विवरण नहीं दिया केवल संभावना बताई है

वहीं श्रीलंका में नए राष्ट्रपति रानील विक्रमसिंघे के पद संभालने के बाद बुधवार को पहला सत्र संयोजित किया गया जिसमें यह जानकारी मिली की देश में अशान्ति को समाप्त करने के लिए 1 सप्ताह पहले लगाए गए आपातकाल को मंजूरी दी जाएगी। विक्रमसिंघे ने 17 जुलाई को देशभर में आपातकाल की घोषणा करी थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति को बधाई दी। भारतीय उच्चायोग मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी है -प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है की ‘भारत लोकतान्त्रिक साधनों के माध्यम से स्थिरता और आर्थिक सुधार के लिए द्वीपीय राष्ट्रीय के लोगों के प्रयास का समर्थन करता रहेगा।