भारत – चीन के रिश्तों मे आई मुश्किलें

नई दिल्ली विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को कहा की चीन ने सीमा पर जो किया हैं | उसके बाद भारत और उसके संबंध अत्यंत मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं | और यह भी कहा की इस बात पर भी जोर दिया की अगर दोनों पड़ोसी देश हाथ नहीं मिलाते हैं | तब तक  एशियाई विश्व शक्ति नहीं बनेगा |जयशंकर ने कहा की मेरा मानना हैं अगर भारत और चीन को साथ में आना हैं तो इसके कई कारण हैं केवल श्रीलंका ही नहीं हैं विदेश मंत्री ने कहा की हाथ मिलाना भारत और चीन के खुद के हित  में हैं | हम पूरी पक्ष इसे आशान्वित हैं | कि चीनी पक्ष इसे समझेगा | विदेश मंत्री ने कहा की भारत ने श्रीलंका की सहायता के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमताओ का उपयोग किया हैं | साथ ही उन्होंने कहा की एशियाई शताब्दी तब होगी जब चीन और भारत साथ आएंगे |चीन और भारत सैनिक पूर्वी लद्दाख में लंबे समय से गतिरोध की स्तिथि में हैं | दोनों पक्षों ने पाँच मई 2020 को उपजी गतिरोध की स्तिथि के समाधान के लिए अब तक 16 दौर की कोर कमांडर स्तर की वार्ता की हैं |