संसाधन नहीं जुटा पा रहा उत्तराखंड,छिन सकता है राष्ट्रीय खेल आयोजन 

प्रदेश में  38 वें नेशनल गेम्स का आयोजन वर्ष 2024 में प्रस्तावित है  आयोजन के लिए प्रदेश में कई समय से तैयारियां की जा रही है लेकिन इन तैयारियों के बीच उत्तराखंड में आयोजन को लेकर खतरा मंडरा रहा है  यह खतरा आयोजन के लिए संसाधन नहीं जुटा पाना है  प्रदेश के पिछले खराब रिकॉर्ड इस बात की तस्दीक करते हैं कि उत्तराखंड से समय-समय पर इस प्रकार के बड़े आयोजन की मेजबानी छिनती रही है. इससे पूर्व 2018 और 2021 में जहां उत्तराखंड से राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी छिन गई थी, तो औली में होने वाले शीतकालीन खेलों को भी संसाधनों की कमी के कारण जम्मू एवं कश्मीर में शिफ्ट किया गया था  इस आयोजन के संबंध में खेल मंत्री रेखा आर्य के अनुसार अब यह खेल वर्ष 2024 की जगह साल 2025 या 2026 में हो सकते है  खेल मंत्री रेखा आर्य का कहना है कि उत्तराखंड को 38वें राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी मिली है, जिसकी तैयारियों में उत्तराखंड जुटा हुआ है. लेकिन यह खेल 2024 में नहीं हो पाएंगे. इन खेलों के आयोजन की मदद के लिए केंद्र सरकार के लिए प्रस्ताव तैयार किए गए हैं. जल्द ही केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से मुलाकात कर इन प्रस्ताव को केंद्र सरकार को दिया जाएगा लेकिन अभी भी प्रदेश सरकार को केंद्र से एक आखिरी उम्मीद है कि अगर केंद्र सरकार प्रदेश की मदद करता है तो साल 2024 में नहीं, बल्कि 2025 या 2026 में इन खेलों की मेजबानी कर सकता है  वहीं यह भी अटकलें लगने लगी हैं कि अगर केंद्र सरकार राष्ट्रीय खेलों के आयोजन के लिए मदद के हाथ आगे नहीं बढ़ाती है, तो उत्तराखंड से यह मेजबानी छिन भी सकती है. हालांकि इस सब के बीच खेल विभाग अपनी तैयारियों में जुटा हुआ है खेलों की मेजबानी कर सकता है