जीएसटी अफसरों नई योजना: ग्राहक बन दुकानों की जांच करेंगे

देहरादून में कई व्यापारी जीएसटी का ज़ीरो रिटर्न भर रहे है, कई पंजीकृत व्यापारी कक्ष लेनदेन का उल्लेख जीएसटी रिटर्न में नहीं दे रहे है। जिसके चलते राज्य कर विभाग के ज्वाइंट कमिश्नर राकेश वर्मा ने सवाल उठाए है और कहा है की अब जीएसटी के अधिकारी ग्राहक बनकर दुकानों की जांच करेंगे।

जीएसटी टीम के बाजार के निरीक्षण के दौरान ज्वाइंट कमिश्नर वर्मा ने कहा की बड़े-बड़े प्रतिष्ठानों के बाहर जीएसटी नंबर नहीं लिखा गया है। बिल नहीं देने को लेकर लगातार शिकायते आ रही है, और कई मामले ऐसे है जिसमें कक्ष लेनदेन को जीएसटी के रिटर्न में नहीं दिखाया जा रहा है।

इससे संदेह पैदा होता है कमिश्नर वर्मा ने कहा की यदि कोई व्यापारी जीएसटी के दायरे में नहीं आता पर उसने पंजीकरण कराया है तो वह अपना लाइसेन्स सरेन्डर कर दे। साथ ही उन्होंने कहा की एक टीम गोपनीय तरीके से ग्राहक बनकर दुकानों पर जाएगी और बिल नहीं देने वालो की जांच करेगी बिल नहीं देने वालो पर सबूत जुटाकर जुर्माना अनुसार कार्यवाही होगी। अगर कोई व्यक्ति ग्राहक से जीएसटी ले रहा है तो राजस्व में उसका भुगतान करना जरूरी है, ऐसा नहीं करना अपराध है, जिसपर कार्यवाही होगी।