दिल्ली मे मंकीपॉक्स की दस्तक

दिल्ली में हुई मंकीपॉक्स की दस्तक

राजधानी नई दिल्ली में मंकीपॉक्स ने अपनी दस्तक दे दी है। दिल्ली के 34 साल के व्यक्ति में मंकीपॉक्स का सक्रमन दिखाई दिया है। इस संक्रमित मरीज ने कोई विदेश यात्रा भी नहीं की है। रोग का पता चलते ही मरीज को दिल्ली के मोलना आजाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दाखिल करवाया गया। इस अस्पताल मे 6 बेड का एक स्पेशल वार्ड तयार किया गया।मरीज की संपर्क ट्रैसिंग प्रक्रिया शुरू कर दी है। देश में मंकीपॉक्स का पहला मामला 14 जुलाई को केरल के कोललम जिले में मिल था। दूसरा मामला 18 जुलाई को तीसरा मामला 22 जुलाई को केरल में ही सामने आया था। वह तीनों व्यक्ति विदेश की यात्रा से करके आए थे। बढ़ते मंकीपॉक्स के कारण वाह की सरकार ने ऐसओपी जारी कर दिया। इसका मतलब निकट आए किसे भी व्यक्ति को बुखार है या उसके शरीर में लाल धबे दिखाई दे रहे है तो उसको जलधी ही मंकीपॉक्स की जांच के लिए भेजे ।  सबसे पहेले विदेश की अफ्रीका मे इसका मामला सामने आया था।

विषव स्वास्थ्य संगठन ने शनिवार को इससे वैशविक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोसीत कर दिया। डबल्यूएचओ ने भी इस बीमारी के मुदहे पर गंभीर होने के लिए कहा। दुनिया के 75 देशों ने अभी तक मंकीपॉक्स के 16 हजार मामले सामने आए है। अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीमारी का परकोप काफी तेजी से पूरी दुनिया मे फेल रहा है। यह किन किन मद्यम से फेल रहा है इसके बारे मे अभी बहुत काम जानकारी है।

यह बीमारी इंसान को इंसान के संपर्क मे आने से होती है। इससे बचाव करना बहुत जरूरी है। इस बीमारी मे फिर से मास्क पहनना बहुत जरूरी है। सोशल डिसटनिंग का पालन करना भी बहुत जरूरी है। यदि इस बीमारी के लक्षण किसे भी इंसान मे दिखाई देते है तो उसको जलधी ही डॉक्टर के पास ले जाना चाईए ।