आधे यूरोप में मंडरा रहा है भीषण सूखे का संकट

भीषण गर्मी और हीटवेव की वजह से आधे यूरोप के सूखे की चपेट में आने की संभावना है। यूरोपीय आयोग की विज्ञान और ज्ञान सेवा की एक रिपोर्ट के अनुसार, करीब आधे यूरोप के सूखे की चपेट में आने की संभावना है, इसमें मुख्यतः जर्मनी, फ़्रांस और यूके में हालात सबसे गंभीर होने का खतरा है।

सोमवार को डीपीए न्यूज एजेंसी की प्रकाशित न्यूज में बताया गया था की 10 अगस्त तक 47% यूरोप सूखे की चपेट में आ गया है, और सर्वेक्षण कीये गए 17% यूरोप के क्षेत्र पूरी तरह से अलर्ट पर है।

शोधकर्ताओं ने कहा की मई के बाद से तीव्र हीटवेव और दुर्लभ बारिश की वजह से यूरोपीय प्रांत सुखी स्थिति में है। इस साल बहुत कम बारिश और हीटवेव ने यूरोप में नदियों के निर्वहन को व्यापक रूप से प्रभावित किया है। कम पानी की मात्र की वजह से जल विद्युत उत्पादन और अन्य बिजली संयंत्रों की शीतलन प्रणाली दोनों के ऊर्जा क्षेत्र पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है।