पूर्व क्रिकेट कप्तान इमरान,पूर्व प्रधानमंत्री इमरान,घायल इमरान

पाकिस्तान में खूनी राजनीति का दौर जारी

जी हाँ  खूनी राजनीति के इतिहास की गवाह पाकिस्तान की  सड़क उस समय फिर रक्तरंजित हो गई जब पाकिस्तान के  क्रिकेट वर्ल्ड कप विजेता कप्तान और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्लामाबाद मार्च में गुरुवार को एक शख्स ने फायरिंग कर दी। इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि इमरान की पार्टी PTI के सांसद फैसल जावेद समेत 13 लोग घायल हो गए,PTI नेता इमरान इस्माइल ने बताया कि इमरान खान के पैर में तीन से चार बार गोली मारी गई है। जब हमला हुआ तो वह इमरान के बगल में थे। उन्होंने बताया कि हमलावर ने AK-47 से फायरिंग की और वह कंटेनर के बिल्कुल करीब था.एक पुलिस अधिकारी ने कहा- घटनास्थल पर 11 बुलेट शेल (खोखे) मिले हैं। इनमें से 9 पिस्टल की गोलियों के शेल हैं और दो किसी बड़ी बंदूक की गोलियों के शेल थे। उन्होंने कहा- पिस्टल की गोलियां जमीन से कंटेनर की ओर चलाई गईं, जबकि कंटेनर से जमीन पर बड़ी बंदूक से फायर किया गया। वहीं, PTI नेताओं का कहना है कि हमला AK-47 से किया गया।   

लाहौर के शौकत खानम हॉस्पिटल अस्पताल में इमरान को भर्ती किया गया  

फायरिंग में पूर्व PM जख्मी हो गए। उन्हें पैर में गोलियां लगीं,जब उन्हें अस्पताल लाया गया था तो उनके दोनों पेरों में जख्म के 16 निशान थे. गोली की वजह से दाएं पैर की हड्डी टूट गई है. जबकि गोली बाएं पैर को छूकर निकल गई थी.। उनका ऑपरेशन डेढ़ घंटे चला। पैर में गोली के कुछ टुकड़े फंसे हुए थे, जिन्हें निकाल दिया गया है। शौकत खानम हॉस्पिटल के डॉ. फैजल सुल्तान के मुताबिक, गोली लगने से उनके पैर की हड्‌डी टिबिया दाहिनी ओर से कट गई है,अभी इमरान खान की हालत स्थिर है,  लेकिन गोलियों के कुछ टुकड़े उनकी टांग में फंस गए हैं। शौकत खानम अस्पताल को इमरान खान ने ही अपनी मां के नाम पर बनवाया है .

अल्लाह ने नई जिंदगी बख्शी, फिर वापसी करेंगे, लड़ाई जारी रखेंगे  

हमले के बाद इमरान ने कहा है कि अल्लाह ने उन्हें नई जिंदगी बख्शी है। इंशाअल्लाह हम फिर वापसी करेंगे और अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। इस हमले के बाद इमरान खान ने कहा कि वे आजादी मार्च जारी रखेंगे. अस्पताल से ही इमरान ने कहा कि मैं झुकने वाला नहीं हूं. मेरा हकीकी आजादी मार्च जारी रहने वाला है. 

हमला कब और कहां हुआ?
इमरान खान का मार्च गुरुवार को गुजरांवाला पहुंचा। यहां वे रैली कर रहे थे। वे कुछ नेताओं के साथ कंटेनर की छत पर अभिवादन करते हुए आगे बढ़ रहे थे। तभी शाम के वक्त एक व्यक्ति ने उन पर कई फायर किए।

हमले के बाद दबोचा गया हमलावर

पाकिस्तान के न्यूज चैनल ARY News के मुताबिक, हमलावर ने सड़क पर खड़े होकर कंटेनर की तरफ निशाने करके गोली चलाई थी, जिसपर इमरान खान खड़े थे. लेकिन उसी दौरान पीछे से एक शख्स उस बंदूकधारी का हाथ पकड़ लेता है. फिर बंदूकधारी हाथ छुड़ाकर वहां से भागने लगता है. खबरों के मुताबिक, इस दौरान हमलावर का निशाना चूक जाता है और गोली इमरान के पैर में लगती है. लेकिन वह शख्स हमलावर को पकड़ने में कामयाब होता है.

हमलावर बोला- अजान के दौरान डीजे बजने से नाराज था   

पाकिस्तान के कई सीनियर जर्नलिस्ट्स ने इस हमलावर के पुलिस कस्टडी में दिए गए बयान का वीडियो शेयर किया है। इसमें आरोपी कहता कि वो अकेला ही हमला करने आया था। वो इमरान को जान से मारना चाहता था, क्योंकि खान के लॉन्ग मार्च में अजान के दौरान भी डेक (DJ) बजता रहता था। पुलिस ने ऑफिशियली अब तक इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है  

 

 

हमले में PM, गृहमंत्री और सीनियर मिलिट्री ऑफिसर शामिल- सेक्रेटरी PTI

PTI के सेक्रेटरी जनरल असद उमर ने गुरुवार को दावा किया कि पार्टी अध्यक्ष इमरान खान को संदेह है कि उनकी हत्या के प्रयास के पीछे प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ, गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह और एक सीनियर मिलिट्री ऑफिसर अधिकारी का हाथ है।  पूर्व मंत्री शेख रशीद ने भी शहबाज़ शरीफ़ सरकार के मंत्री राणा सनाउल्लाह पर लगाया आरोप

हमले के बाद इमरान खान के समर्थक और वरिष्ठ PTI नेता फवाद चौधरी ने उसी Container से लोगों को सम्बोधित कर हमले का बदला लेने का ऐलान किया.

 

15 साल पहले खूनी राजनीति ले चुकी है पूर्व PM बेनजीर भुट्टो की जान  

इमरान से पहले 27 दिसंबर 2007 को पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो पर भी ऐसे ही हमला हुआ था, जिसमें उनकी मौत हो गई थी। भुट्टो तब रावलपिंडी से रैली कर लौट रही थीं, तभी हमलावर उनके पास आया और उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद हमलावर ने खुद को भी बम से उड़ा लिया था। बता दें कि बेनजीर भुट्टो दो बार पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बनी थीं, लेकिन कभी भी अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सकी थीं। बेनजीर के बेटे बिलावल भुट्‌टो इस समय शाहबाज सरकार में विदेश मंत्री हैं।

हमले के विरोध में इमरान समर्थकों ने देशभर में प्रदर्शन शुरू कर दिया

इमरान खान पर हुए हमले के बाद पूरे पाकिस्तान में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ समर्थक नाराज हो गए हैं। पाकिस्तान के सभी बड़े शहरों में गुस्साए पीटीआई समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। पुलिस की टुकड़ियां धरना स्थलों पर प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर रही है।पुलिस की टुकड़ियां धरना स्थलों पर पहुंच चुकी हैं और सड़क खाली करने के लिए प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर रही है। कराची में कई मुख्य सड़कों पर विरोध प्रदर्शन के दौरान कई क्षेत्रों में भारी ट्रैफिक जाम देखा गया। 

इमरान पर हमले के बाद कराची के कई इलाकों में PTI के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए,पुलिस की टुकड़ियां धरना स्थलों पर पहुंच चुकी हैं और सड़क खाली करने के लिए प्रदर्शनकारियों से बातचीत कर रही है। कराची में कई मुख्य सड़कों पर विरोध प्रदर्शन के दौरान कई क्षेत्रों में भारी ट्रैफिक जाम देखा गया। । रावलपिंडी में इमरान खान के समर्थकों ने प्रदर्शन किया। यहां से आगजनी की भी खबरें आईं। 

पीटीआई कार्यकर्ताओं ने लाहौर के लिबर्टी चौक पर भी विरोध प्रदर्शन किया। एक और विरोध प्रदर्शन मुरी रोड पर किया गया। फैसलाबाद में बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह के आवास के बाहर जमा हो गए। 

दिल उतना ताकतवर रहा नहीं कि और बुरी खबरें सुनी जाए- शोएब अख्तर

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शोएब अख्तर ने इस हमले की आलोचना की है। साथ ही उन्होंने इमरान खान की सलामती की दुआ की है। अपने ट्विटर हैंडल में उन्होंने वीडियो संदेश जारी कर कहा, यह बड़ी असहज कर देने वाली खबर है।इमरान खान  को पांव पर गोलियां लगी हैं। अलाह! उन्हें महफूज रखे।  रावलपिंडी एक्सप्रेस नाम से मशहूर क्रिकेटर ने कहा, खुदा के लिए ये चीजें बंद होनी चाहिए। दिल उतना ताकतवर रहा नहीं की और बुरी खबरें सुनी जाए। अरशद शरीफ (पाक पत्रकार) शहीद हुए हैं। अब ये वाक्या हो गया। अल्लाह हमारे मुल्क को हिफाजत में रखे और हम किसी निष्कर्ष पर पहुंचे। बहुत हो गया मजाक। बहुत हो गया ड्रामा। 

PTI ने इमरान के समर्थन में खोला मोर्चा