महिला क्रिकेटरों की फीस में ‘भेदभाव’ खत्म

अब महिला क्रिकेटरों को भी पुरुषों के बराबर फीस मिलेगी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने 27 अक्टूबर को इस बात का एलान किया। हाल में ही बीसीसीआई की एजीएम हुई थी, जिसमें यह निर्णय हुआ था कि महिला आईपीएल पहला सीजन 2023 में खेला जाएगा। इसको देखते हुए ही यह फैसला लिया गया है।


जय शाह का ट्वीट है, ‘बीसीसीआई महिला क्रिकेटरों को उनके पुरुष समकक्षों के समान फीस का भुगतान किया जाएगा। टेस्ट (15 लाख) , वनडे (6 लाख), टी-20 (3 लाख रुपये)। समान फीस महिला क्रिकेटरों के लिए प्रतिबद्धता है। एपेक्स काउंसिल को मेरा धन्यवाद है। जय हिंद।’

2017 में आईसीसी महिला विश्व कप के फाइनल में भारतीय टीम पहुंची थी, जिसके बाद लोगों का इंटरेस्ट इस ओर बढ़ा है। इस साल भी महिला टीम ने कॉमनवेल्थ गेम्स में रजत पदक हासिल कर परचम लहराया था। महिला क्रिकेटरों को बढ़ावा देने के लिए सबसे पहले न्यूजीलैंड ने कदम बढ़ाए थे। न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने पुरुष क्रिकेटरों के समान महिला क्रिकेटरों को मैच फीस देने का फैसला लिया था।