बीबीसी डॉक्‍यूमेंट्री को लेकर जमिया में छात्रों का प्रदर्शन, छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया  

के-न्यूज/दिल्ली, बीबीसी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी पर बनाई गई डॉक्यूमेंट्री को लेकर बवाल थमने का नाम नही ले रहा. जेएनयू के बाद जमिया के छात्रों ने डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीन करने का ऐलान किया था. जिसके बाद यूनवर्सिटी के प्रबंधक ने डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीन में रोक लगा दी थी. रोक लगाए जाने से छात्र काफी अक्रोशित थे जिसके बाद गेट के बाहर छात्रों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था.

जामिया मिल्लिया इस्लामिया के गेट नंबर सात पर चार बजे बीबीसी द्वारा गुजरात दंगों पर बनाई गई प्रतिबंधित डॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग के लिए पहुंचे एसएफआई, आयशा व एनएसयूआई के छात्रों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पुलिस ने एसएफआइ, आयशा व एनएसयूआइ के करीब एक दर्जन छात्रों को हिरासत में लिया है।बता दें कि स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) ने बुधवार को घोषणा की कि वह शाम 6 बजे जामिया विश्वविद्यालय परिसर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बीबीसी के विवादास्पद डॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग होगी।

स्क्रीनिंग के लिए नहीं मांगी गई अनुमति- प्रशासन

इधर विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा कि डॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग के लिए कोई अनुमति नहीं मांगी गई है और हम इसकी अनुमति नहीं देंगे। एसएफआई की जामिया इकाई ने एक पोस्टर जारी कर सूचित किया है कि एमसीआरसी लॉन गेट नंबर 8 पर शाम 6 बजे डॉक्युमेंट्री दिखाई जाएगी। जामिया के एक अधिकारी ने इस मामले लेकर कहा, “उन्होंने स्क्रीनिंग के लिए अनुमति नहीं मांगी और हम स्क्रीनिंग की अनुमति नहीं देंगे। यदि छात्र कुछ करने के लिए बाहर जाते हैं, तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।”

कल जेएनयू में स्क्रीनिंग के दौरान हुई पत्थरबाजी

बता दें कि इससे पहले जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में मंगलवार को बीबीसी की डॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग की गई थी। स्क्रीनिंग के दौरान पत्थरबाजी की घटना सामने आई थी। इसके बाद मंगलवार की रात में छात्रों ने वसंत कुंज पुलिस स्टेशन तक पथराव की घटना के विरोध में मार्च निकाला। पुलिस ने मामले की जांच करने का आश्वासन मिलने के बाद छात्रों ने प्रदर्शन खत्म किया।

 

   

Leave a Reply

Your email address will not be published.