हरिद्वार में अब मिलेगी जाम से राहत 

हरिद्वार में  रोज के लाखों की संगत आती है इसलिए आए दिन रोज जाम की दिक्कत रहती है। उत्तराखंड के हरिद्वार में जाम से छुटकारा पाने के लिए रिंग रोड निर्माण कार्य शुरू करवा दिया गया है। हरिद्वार तीज के दिन पर होने वाले गंगा स्नानों पर लाखों लोग गंगा में डुबकी लगाने आते हैं।  वहीं, घूमने के शौकीन भी हर वीकेंड पर हरिद्वार, ऋषिकेश आ जाते है। जिन्हें हरिद्वार से होकर ही ऋषिकेश, देहरादून, मसूरी या और भी जगह घूमने जाना होता है। तीज त्योहारों पर होने वाले गंगा स्नानों पर सड़कें लोगों की गाड़ियों से पूरी तरह भरी होती है जिस कारण सड़कों पर लोगों को रेंगते-रेंगते अपनी मंजिल तक पहुंचना पड़ता है और मुश्किल का सामना भी करना पड़ता है। एनएचएआई द्वारा प्रस्तावित रिंग रोड के पहले चरण का काम शुरू कर दिया गया है जो हरिद्वार के बाहरी हिस्से में चल रहा है। इसमे पहले 15 किलोमीटर की रोड बनाई जाएगी। रिंग रोड को  दिल्ली से नजीबाबाद, देहरादून, नैनीताल को लिंक किया जाएगा। इसके बनने के बाद घंटों के सफर को मिनटों में तय किया जाएगा। हरिद्वार में मुख्य स्थानों पर ट्रैफिक की स्थिति को देखते हुए रिंग रोड बनाई जा रही है।  रिंग रोड को बनाने के लिए करीब 9 गांवों के किसानों की भूमि अधिग्रहण किया गया है। हरिद्वार के एसडीएम पूरण सिंह राणा ने किसानों की भूमि को लिया है उनको करोड़ों रुपये के चेक बांट दिए हैं  और साथ ही जिन की जमीनों से होकर रिंग रोड गुजरेगी, उन किसानों को भी जल्द मुआवजा दे दिया जाएगा।  हरिद्वार में रिंग रोड ग्रामीण क्षेत्रों से होकर गुजर रही है, जहां पर संबंधित कंपनी द्वारा रोड बनाने का कार्य शुरू करवाया जा चुका है। वही रिंग रोड की जमीन के पास जिन लोगों द्वारा अवैध रूप से कब्जे किए जा रहे है उन्हें भी प्रशासन ही द्वारा कब्जा मुक्त करवाएगा। रिंग रोड का काम 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.