हटाया गया ट्रेन से सर्विस का एक्स्ट्रा चार्ज

पहले प्रीमियम ट्रेन में सफर करने वाले लोगों अपने खाने पहले से ही टिकट करना पड़ता था, यदि किसी ने पहले से टिकट में खाने का नहीं जोड़ा है और सफर के दौरान वो कहना ऑर्डर करते है तो उसका एक्स्ट्रा सर्विस चार्ज लगता था। और वो सर्विस चार्ज काफी ज्यादा पद जाता था लोगों के लिए।

(MINISTRY OF RAILWAYS)रेल मंत्रालय ने पिछले कुछ दिनी में एक सर्कुलर जारी किया है जिसमें उन्होंने खाने में लगने वाले एक्स्ट्रा सर्विस चार्ज को बंद कर दिया है अब से सफर के दौरान अलग से खाना मँगवाने पर सर्विस चार्ज नहीं देना होगा।

हालाँकि, इस फैसले में भी रेल मंत्रालय ने कुछ चालाकी ही करी है,क्योंकि अब चाय को छोड़कर बाकी खाने की चीजों का रेट बढ़ दिया गया है सभी खाने के रेट 50रु बढ़ा दिए गए है।

यह घटना 28 जून की है जब एक पैसेंजर ने अपने चाय का बिल सोशल मीडिया पे शेयर किया जिसमें जिसमें उसका टोटल 70रु हुआ था जबकि चाय का रेट केवल 20रु ही लिखा था और बाकी 50रु सर्विस के लिए गए थे। इस बिल को लोगों ने सोशल मीडिया पे खूब शेयर किया था और रेल्वे से इसका जवाब मांगा गया था ।

इस बिल वाली बात पे बाद में रेल्वे मंत्रालय का जवाब आया जिसमें उन्होंने कहा की इसमें कोई ओवरचार्जिंग नहीं है, 2018 में सरकार ने बिल लागू किया था जिसमे कहा गया था की यदि कोई पैसेंजर खाने की बुकिंग नहीं कर के आता है और ट्रेन में खाने डिमांड करता है तो उसकी मांग पूरी जाएगी पर हर मील पर 50रु सर्विस चार्ज देना पड़ेगा ।

यह नियम अब हटा दिया गया है पर चाय को छोड़कर हर मील में 50रु बड़ा दिए गए है।