मुस्लिम समाज संग निकाली रामदेव ने तिरंगा यात्रा 

 

देश मे 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस को धूमधाम से मनाया गया   पूरे देश में इसे मानो एक बड़े त्योहार के तरह हर्ष और उल्लास के साथ सभी धर्म , जाती , समुदाए के लोगों ने साथ मिलकर मनाया ऐसे में बाबा रामदेव ने देश की पिजत्तरवी वर्षगांठ मुस्लिम समुदाए के साथ मनाई 
योगगुरु बाबा रामदेव ने आजादी की वर्षगांठ पर पतंजलि योगपीठ में ध्वजारोहण के बाद बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय और मदरसा छात्रों के साथ बाबा रामदेव ने तिरंगा यात्रा निकाली कई गांवों से तिरंगा फहराते हुए और गुजरने के बाद तिरंगा यात्रा बोड्डाहेड़ी गांव स्थित मदरसा पहुंची
कार्यक्रम में ध्वजारोहण करने के दौरान  एक स्थिति उत्पन्न हो गई जिसके कारण असहजता का माहौल देखने को मिल 
दरअसल ध्वजारोहण के दौरान बाबा रामदेव ने झंडे की रस्सी खींची, लेकिन गलत गिरह लगने के कारण ध्वज नहीं खुला 
बाबा रामदेव ने जोर से झटका मारा तो झंडा टूट गया ध्वज रस्सी और आधे डंडे समेत नीचे आ गिरा जिससे यह असहजता की स्थिति का सामना सभी को करना पड़ा
इस स्थिति के उत्पन्न होने के पीछे  झंडे में लगे डंडे था जो काफी कमजोर था जिस कारण  गिरह नहीं खुली और डंडा टूट गया  माहौल अधिक खराब न हो इसके लिए 
रामदेव ने सभी से संयम बनाए रखने के लिए कहा