पश्चिमी यूरोप:पहली बार गर्मी से तप रहा

यूरोप का बढ़ता तापमान छूट रहा लोगों के पसीने, पश्चिमी यूरोप इस समय भीषण गर्मी का सामना कर रहा है। पश्चिम यूरोप में लगातार गरम हवा (हीटवेव्स) चल रही है जिसके चलते वहा का तापमान काफी बाद गया है। वहा का अभी तक का सबसे ज्यादा तापमान 40डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया है। विश्व मौसम विज्ञान संगठन ने भविष्य के लिए इसे बहुत बड़ा खतरा बताया है।

विश्व मौसम विज्ञान (डबल्यूएमओ) के मुताबिक पश्चिमी यूरोप की बढ़ती गर्मी, स्पेन और फ़्रांस के जुंगलों में आग और इटली और पुर्तगाल के सूखे का कारण बन रही है। फ़्रांस,पुर्तगाल,स्पेन और ग्रीस के जंगलों की भीषण आग के कारण कई लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित जगह जाना पड़ा।

डबल्यूएमओ के अनुसार, मंगलवार को लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे पे ब्रिटेन का अब तक का सबसे उच्चतम टेम्परचर दर्ज किया है, जो की 40 डिग्री सेल्सियस है। वही अगले सप्ताह के मध्य तक तापमान सामान्य से ऊपर रहने की उम्मीद है। जिसके चलते डबल्यूएमओ ने ये चैटवानी दी है की एस ही चलते रहने से 2060 तक हीटवैव और अधिक हो जाएगी जो बहुत खतरनाक है।

संयुक्त राष्ट्र की मौसम एजेंसी का कहना है की ये मामला ग्लोबल वार्मिंग से जुड़ा हुआ है, जिसके लिए खुद मानव की गतिविधिया जिम्मेदार है।