गुलाबचंद कटारिया ने विवादित बयान पर माफी मांगी

नेता गुलाबचंद कटारिया एक बार फिर विवादित बयान देकर फंस गए एक कार्यक्रम के भाषण में उन्होंने जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल कर दिया जिससे गुस्साए वाल्मीकि समाज के लोगों ने हंगामा खड़ा कर दिया हालांकि, अब नेता प्रतिपक्ष ने ट्वीटर पर वीडियो शेयर कर माफी मांगी है वाल्मीकि समाज ने गुलाबचंद कटारिया को नेता प्रतिपक्ष पद से हटाने और पार्टी से निष्कासित करने की मांग की थी इधर विवाद के बाद बुधवार शाम कटारिया ने कहा कि हमने कोई जानबूझकर कोई गलत या जातिसूचक शब्द को इस्तेमाल नहीं किया है जो इतिहास में लिखा हुआ है, वो ही बोला है इसके बाद भी किसी को एतराज लगता है तो मैंने जो अनुसूचित जाति के बाद जो सूची देखी है, जो आजादी के बाद घोषित की गई है उसमें आज भी जाति का नाम उसी नाम से लिखा गया है अगर आपको इतना ही गुस्सा है तो राज्य सरकार को आग्रह करके इस सूची से नाम को हटा देते तो पता चलता की ये बोलना अपराध है

कटारिया ने ट्वीटर पर शेयर किया वीडियो
उन्होंने कहा की इस साल मेरे द्वारा जाने अनजाने में, बोलचाल में, आमने-सामने, आपका मन दुखाया हो, गलत लगा हो, तो मन वचन और काया से आप सभी को मिच्छामि दुक्कडम्। उन्होंने ये भी कहा कि सुधार लेना प्रगति है और क्षमा मांग लेना संस्कृति है।