उत्तराखंड में मत्स्य पालन को लगंगे पंख

उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने गढ़वाल और कुमाऊ  में मत्स्य मंडी खोलने का ऐलान किया है

और प्रदेश में  प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की तर्ज पर मुख्यमंत्री मत्स्य संपदा योजना भी शुरू की जीएगी।

रविवार को मत्स्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय मत्स्य पालन दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसके मुख्य अतिथि सीएम धामी थे । जहा सीएम धामी ने देहरादून मेंस्थापित होने वाले मत्स्य प्रसंस्करण यूनिट का शिलान्यास किया। जिसमे उन्होंने मत्स्य पालन को कृषि का दर्ज दिया और कहा की मत्स्य पालन में विद्युत दरों का जो इस्तेमाल होता है उसे कृषि दरों पर निर्धारियत किया जायगा।

कार्यक्रम में उन्होंने मत्स्य विभाग से संभन्दित सभी स्टॉल का अवलोकन किया और साथ ही प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत दो लाभार्थियों को मोटरसाइकिल और आइस बकेट भेंट कीये।

पर्वतीय क्षेत्र में बढ़ते मत्स्य पालन पर मुख्यमंत्री ने खुशी जाहीर की और कहा यह स्वरोजगार के लिए न्ई उम्मीद है। पिछले 5 साल में मछलियों की फ़ार्मिंग तो बढ़ी है पर मार्केटिंग की कोई सख्त व्यवस्था नहीं है जिससे किसानों को सही मूल्य नहीं मिल पाता है। कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कहा की प्रदेश में मत्स्य पालन की यापार संभावनए है। सरकार की और से मत्स्य पालन की दृष्टि से उपलब्ध जल संसाधनों के उपयोग पे कार्य किया जा रहा है । लगभग 11 हजार व्यक्ति मत्स्य पालन से जुड़े है।

साथ ही उन्होंने उधम सिंह नगर व हरिद्वार के ग्राम समाज के तालाबों के पट्टों का आंवटन किया एवं मत्स्य पालन के क्षेत्र में विशिस्ट कार्य करने वाले प्रत्येक जिले से दो व्यक्तियों को सम्मानित किया ।।