असंसदीय शब्दों का नया संकलन लोकसभा सचिवालय ने किया जारी

संसद के दोनों सदन राज्यसभा और लोकसभा में कई बार सभा में सदस्य इसे शब्दों का इस्तेमाल करते है जो कई लोगों को आपत्तिजनक लगते है जिससे कई सदस्य अपमानजनक महसूस करते है , इसी चीज पर रोक लगाने के लिए लोकसभा सचिवालय ने असंसदीय शब्दों का नया संकलन जारी किया है।

संसद के दौरान दोनों सदनों की कार्यवाही के दौरान सभा में भाग ले रहे सदस्य अब जुमलजीवी, बालबुद्धि, जयचंद, कोविद स्प्रेडर, और स्नूपगेट जैसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करेंगे।

यही नहीं लोकसभा सचिवालय द्वारा एक नया संकलन जारी किया गया है, जिसके मुताबिक अब अबूय्जड, ब्रिटेड, करप्ट, ड्रामा, हिप्पोक्रेसी, और इन्कम्पिटेन्ट जैसे शब्दों को भी असंसदीय माना जाएगा।

यह संकलन 18 जुलाई से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र से पहले आया है। लोकसभा सचिवालय ने ‘असंसदीय शब्द 2021’ शीर्षक के तहत इसे शब्दों एवं वाक्यों का नया संकलन तैयार किया है जिसे ‘असंसदीय अभिव्यक्ति’ की श्रेणी में रखा गया है।।