अलविदा भूपिंदर सिंह

नाम गुम जाएगा , प्यार हमें किस मोड़ पर ले आया ,मेरा रंग दे बसंती चोला ,जिंदगी मिलकर बीतायेंगे जैसे सदाबहार नगमे देने वाले  मशहूर  बॉलीवुड सिंगर  व गजल गायक  भूपिंदर सिंह ने बीते सोमवार 82 साल की उम्र मे जगत से अलविदा ले लिया 18 जुलाई की शाम भूपिंदर सिंह ने मुंबई  मे अपनी आखिरी सांस ली उनके जाने की खबर से ही बॉलीवुड म्यूजिक इंडस्ट्री मे शोक का माहोल बना हुया है और उनके फैन्स के बीच मायूसी का माहोल  बना हुआ है भूपिंदर सिंह के निधन का कारण उनके हेल्थ प्रॉब्लेम्स बताए जा रहे है उनकी पत्नी के अनुसार उनको कई हेल्थ प्रॉब्लेम्स  थी जिसमे युरीनरी इशू जैसी गंभीर समयस्या भी शामिल थी

*अपने करियर में गाए कई सदाबहार गीत;
6 फ़रवरी 1940 को पंजाब मे जन्मे भूपिंदर सिंह ने  अपने समय की मशहूर फिल्म सत्ते पे सत्ता जिसमे महानायक अमिताभ बच्चन मुख्य किरदार में थे को कई मशहूर संगीत दिए जिसमे से एक था जिंदगी मिलके बिताएंगे इस  मशहूर गाने ने लोगों के दिलों में कुछ इस तरीके से जगह बनाई की भूपिंदर सिंह का नाम हर जुबां पर चढ़ गया इसके  अलावा नाम गुम जाएगा संगीत के आज भी लाखों लोग कायल है भूपिंदर सिंह के पिताजी एक मशहूर वोकलिस्ट थे कहा जाता है भूपिंदर जी ने अपने पिताजी से ही शिक्षा दीक्षा प्राप्त की थी पर अपने पिताजी के सक्त मिजाज के कारण भूपिंदर जी को अपने सुरुवाती समय मे संगीत से नफरत हो चली थी

*ऐसे मिला ब्रेक :
अपने शुरुआती दौर में भूपिंदर सिंह ऑल इंडिया रेडियो मे परफॉर्म किया करते थे डायरेक्टर मदन मोहन ने भूपिंदर सिंह को एक डिनर पार्टी में गाते हुए सुना था बस यही से शुरू हुआ भूपिंदर सिंह का संगीत सफर मदन मोहन ने उन्हे मुंबई बुलाया और मोहम्मद रफी ,तलद महमूद ,मन्ना डे के साथ ‘होके मजबूर उसने मुझे बुलाया होगा ‘गाने का मौका दिया इसके अलावा उनकी गजलें भी  लोगों के बीच मशहूर है
1980 में भूपिंदर सिंह ने बांग्लादेशी सिंगर मिताली मुखर्जी से शादी करी दोनों ने साथ मे कई गज़लों के लाइव शोज करे , दोनों का एक बेटा भी है ॥