उज्बेकिस्तान में भारतीय सिरप पीने से 18 बच्चों की मौत, इस मामले पर कांग्रेस ने सरकार को घेरा

उज्बेकिस्तान ने दावा किया है कि देश में 18 बच्चों की कथित तौर पर एक भारतीय कंपनी द्वारा निर्मित खांसी की दवा पीने से मौत हुई। उज्बेक स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि इन बच्चों ने नोएडा स्थित मैरियन बायोटेक द्वारा निर्मित खांसी के सिरप ‘डॉक-1 मैक्स’ का सेवन किया था। इस मामले में केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) और भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय ने जांच शुरू कर दी है।

 

18 बच्चों की मौत पर शुरू हुई राजनीति
कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने इस मामले को लेकर गुरुवार सुबह ही ट्वीट किया, ‘‘भारत में निर्मित सिरप खतरनाक दिखाई देते हैं। पहले गाम्बिया में 70 बच्चों की मौत हुई और अब उज्बेकिस्तान में 18 बच्चों की मौत हुई। मोदी सरकार को यह डींग हांकना बंद कर देना चाहिए कि भारत दुनिया के लिए औषधालय है। सरकार को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।’’

 

कांग्रेस के  ट्विट पर बीजेपी का पलटवार

जयराम रमेश के इस ट्वीट पर पलटवार करते हुए भाजपा के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने कहा, ‘‘गाम्बिया में बच्चों की मौत से भारत में निर्मित सिरप का कोई लेनादेना नहीं है। इस बारे में गाम्बिया के प्रशासन और डीसीजीआई दोनों ने स्पष्टीकरण दिया है। लेकिन मोदी के प्रति नफरत में अंधी हो चुकी कांग्रेस भारत एवं उसकी उद्यमी भावना का मजाक बना रही है।’’

वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव वाई सत्य कुमार ने कहा, “विपक्ष की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के प्रति भरपूर नफरत अब भारत के प्रति नफरत में बदल गई है। पहले ही डीजीसीआई और गाम्बिया इस मामले में साफ कर चुके हैं कि भारतीय कफ सिरप का बच्चों की मौत से कोई लेना देना नहीं है। आप लोग भारत को बदनाम करने का कोई मौका नहीं छोड़ते।”

भाजपा नेता सीटी रवि ने जयराम रमेश के ट्वीट पर कहा, “ये झूठे अपने गुरुओं की राह पर हैं, जो लगभग हर बात पर झूठ बोलते हैं। यह साबित हो चुका है कि गाम्बिया में बच्चों की मौत से मेड इन इंडिया सिरप का कोई लेना-देना नहीं है। लेकिन कांग्रेस ने अपना मेड इन चाइना झूठ फैलाना जारी रखा है। दूसरी तरफ एक और ट्विटर यूजर आलोक भट्ट ने कहा कि भारत के लिए नफरत की वजह से इस पार्टी ने देश के संस्थानों और उनकी रिपोर्ट्स की भी उपेक्षा शुरू कर दी है और प्रोपगैंडा चलाने वालों की बात कहना शुरू किया है। मैं सोचता हूं कि क्या इस पार्टी को भारत के लोकतंत्र में भागीदारी का अधिकार भी है।