एक बार फिर कोरोना से हाहाकार, स्वास्थ्य मंत्रालय की बैठक खत्म, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

दुनिया में एक बार फिर कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में भारत सरकार भी चीन में बिगड़ते हालात को देखते हुए सतर्क हो गई है। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने आज कोरोना पर मीटिंग की। देश कोरोना महामारी के उस दौर कोे कभी नही भुला सकता क्योंकि कोरोना महामारी की शुरुवात साल 2020में  चीन से हुई थी। कोरोना ने जमकर पूरी दुनिया में हाहाकर मचाया था।

तेजी से बढ़ रहें हैं कोरोना के मामले

बता दें कि चीन ही नहीं बल्कि दुनिया के तमाम देशों में कोरोना के मामले तेजी से एकबार फिर बढ़ने लगे हैं। कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए भारत सरकार अलर्ट मोड पर आ गई है। इसको देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना को लेकर हाईलेवल मीटिंग बुलाई । इस मीटिंग में देश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा हुई। बता दें कि इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ भारती पवार समेत स्वास्थ्य विभाग के तमाम अधिकारी मौजूद हैं।

चीन से आने वाली फ्लाइट पर रोक लगाने की उठी मांग

चीन में लगातार कोरोना के बढ़ते केसों की वजह से बिगड़ते हालात को देखते हुए कांग्रेस समेत कुछ राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने चीन ने आने वाली फ्लाइट पर रोक लगाने की मांग की है। कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कहा कि चीन में कोरोना की स्थिति हमें सचेत करने वाली है। भारत सरकार को जल्द से जल्द चीन से आने वाली सभी फ्लाइट पर रोक लगानी चाहिए। मनीष तिवारी ने कहा कि अमेरिका, जापान और कोरिया में बढ़ते हुए केसों को देखते हुए और नए वैरिएंट की आशंका के बीच भारत सरकार को नई कोविड प्रोटोकॉल जारी करना चाहिए।

इन मुद्दों पर बैठक में हुई चर्चा

जानकारी के मुताबिक केंद्र सरकार की इस बैठक में कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई। जिनमें सबसे अहम इंटरनेशनल और डोमेस्टिक एयरपोर्ट्स पर सर्विलांस बढ़ाने की बात पर चर्चा हुई। वहीं विदेशों से आने वाले लोगों की सख्ती से जांच और नए वेरिएंट की पहचान के लिए तमाम तरह की सुविधाएं देने की भी बात की गई। बैठक में इस बात पर भी जोर दिया गया कि नए साल का जश्न मनाने जो भारतीय विदेशों से लौट रहे हैं उनके लिए प्रोटोकॉल तैयार किया जाए। कोरोना जैसे लक्षण पाए जाने पर उनके सैंपल तुरंत जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएं।

ये भी पढ़ें-यूपी नगर निकाय चुनाव आरक्षण पर फंसा है पेंच, हाईकोर्ट में टला फैसला, कल फिर होगी सुनवाई