एक्शन में सरकार: 73 ट्विटर और 4 यूट्यूब चैनल ब्लॉक; कर रहे थे ये काम

सरकार सोशल मीडिया पर कंटेंट को लेकर सतर्क है, जिसके कारण सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से ट्विटर और यूट्यूब के कुछ चैनलों और हैंडल के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। हाल ही में आईटी मंत्रालय ने 73 ट्विटर हैंडल, 4 यूट्यूब चैनल और इंस्टाग्राम पर एक गेम के खिलाफ कार्रवाई की है। उन पर फर्जी कैबिनेट बैठकों से संबंधित भड़काऊ कंटेंट पब्लिश करने का आरोप है। मंत्री राजीव चंद्रशेखर की शिकायत के बाद सरकार ने ये कदम उठाया है। पिछले साल दिसंबर में भी सरकार ने बड़ी संख्या में यूट्यूब चैनल्स को ब्लॉक करने का आदेश दिया था।

20 दिसंबर से पब्लिक डोमेन में है फर्जी और हिंसक वीडियो

चंद्रशेखर ने कहा कि ‘फर्जी और हिंसक’ वीडियो दिसंबर 2020 से पब्लिक डोमेन में है। यूजर के रिक्वेस्ट का जवाब देते हुए मंत्री ने कहा कि इस पर काम शुरू किया जा रहा है। बाद में उन्होंने कहा कि सेफ एंड ट्रस्टेड इंटरनेट पर टास्क फोर्स ने इस मामले को सुलझा लिया है।

अकाउंट के मालिकों की कार्रवाई के लिए की गई पहचान

उन्होंने आगे बताया, “ट्विटर, यूट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम पर फर्जी/भड़काऊ कंटेंट शेयर करने की कोशिश कर रहे हैंडल को ब्लॉक कर दिया गया है।” उन्होंने यह भी कहा कि कानून के अनुसार, अकाउंट के मालिकों की कार्रवाई के लिए पहचान कर ली गई है।

चंद्रशेखर ने कहा- “ट्विटर, यूट्यूब, एफबी, इंस्टाग्राम पर फर्जी/भड़काऊ कंटेंट को आगे बढ़ाने की कोशिश करने वाले हैंडल को ब्लॉक कर दिया गया है।” सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने खुलासा किया कि खुफिया एजेंसियों के साथ समन्वय में लगभग 20 यूट्यूब चैनलों और दो वेबसाइटों को ब्लॉक करने का आदेश दिया गया है क्योंकि वे भारत विरोधी प्रचार और फर्जी खबरें फैला रहे थे। मंत्रालय ने दो आदेश जारी किए, एक यूट्यूब को 20 चैनल ब्लॉक करने का निर्देश दिया और दूसरा आदेश दो न्यूज वेबसाइटों को ब्लॉक करने का।

कुछ देर हैक होने के बाद रिस्टोर हुए IB मंत्रालय का ट्विटर अकाउंट, जांच शुरू

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का आधिकारिक ट्विटर हैंडल बुधवार को कुछ देर के लिए हैक हो गया। इस दौरान आईबी मंत्रालय के ट्विटर अकाउंट का नाम बदलकर आंत्रप्रन्योर एलन मस्क के नाम पर कर दिया गया। हालांकि, अब यह अकाउंट रिस्टोर कर लिया गया है। अकाउंट हैक होने के कुछ ही मिनटों बाद IB मिनिस्ट्री ने ट्वीट किया, ‘ @Mib_india को अब रिस्टोर कर लिया गया है। मंत्रालय के ट्विटर पर 14 लाख ज्यादा फॉलोअर्स हैं। मामले के एक अन्य जानकार ने बताया, ‘असल में क्या हुआ, यह पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी गई है।’ अकाउंट हैक होने के बाद इससे बिटकॉइन संबंधी कई ट्वीट किए गए। हालांकि, हम इसकी पुष्टि नहीं कर सकते कि इन बिटकॉइन से जुड़े आर्टिकल में क्या लिखा था।