थाने के भीतर आत्मदाह करने वाली महिला की इलाज के दौरान मौत

मथुरा: खुद को आग लगाकर राया थाने में पहुंची महिला की आगरा में उपचार के दौरान रविवार को मौत हो गई। महिला के पति ने प्रधान के पिता सहित चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

बता दें कि शनिवार को थाने में लगे समाधान दिवस में आग की लपटों से घिरी महिला पहुंची थी। महिला को मथुरा भेजा, हालत गंभीर होने पर आगरा रेफर कर दिया, जहां दोपहर को उसकी मौत हो गई।

मुकदमा वापस लेने को बना रहे थे दबाव

महिला के पति ने बताया कि 11 जुलाई 2017 को गांव के हरिचंद ने उसकी पत्नी से छेड़छाड़ की थी, इसकी रिपोर्ट थाना राया में दर्ज कराई। आरोपी अन्य लोगों के साथ मिलकर मुकदमा वापस लेने को दबाव बना रहे थे। एक जनवरी को गांव में पंचायत हुई। इसमें प्रधान के पिता सुरेश, वीरेंद्र, रिंकू और हरिचंद ने मुकदमा वापस न लेने पर देख लेने की धमकी दी थी। पुलिस ने प्रधान के पिता सुरेश को गिरफ्तार कर चालान कर दिया।

पंचायत में शामिल हुए पंच हो गए भूमिगत

पिछले दिनों हुई पंचायत में शामिल लोग अब भूमिगत हो गए हैं। पंचायत में 50 लोगों ने भाग लिया था। यहां एक स्वर में महिला व पति पर मुकदमा वापस लेने को दबाव बनाया गया।

महिला ने मना कर दिया, इस पर हरिचंद एवं अन्य ने धमकी दी थी कि अब तुम्हारे खिलाफ हर रोज मुकदमे दर्ज होंगे, इससे महिला टूट गई और आग लगाने जैसा बड़ा कदम उठा लिया। महिला का चार बीघा से अधिक खेत मुकदमे में बिक चुका है, लेकिन उसने हार नहीं मानी थी। न्याय की आशा टूटती देख महिला ने आत्मघाती कदम उठा लिया। अब पुलिस के भय से पंचायत में शामिल लोग भूमिगत हो गए हैं। पुलिस पंचायत में शामिल लोगों की तलाश में है।