Omicron: TATA के OmiSure किट से होगी ओमिक्रॉन की टेस्टिंग, ICMR ने दी मंजूरी

कोरोना वायरस के फिर से बढ़ते संकट के बीच इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने एक ऐसी किट को मंजूरी दे दी है जिसका इस्तेमाल ओमिक्रॉन वेरिएंट का पता लगाने के लिए किया जाएगा. इस खास किट का निर्माण टाटा मेडिकल एंड डायग्नोस्टिक्स द्वारा किया गया है और इसका नाम ओमीश्योर (OmiSure) है. इस किट को 30 दिसंबर को मंजूरी मिली थी.

अभी अमेरिकी कंपनी की टेस्टिंग किट का हो रहा इस्तेमाल

अभी भारत में ओमिक्रॉन की टेस्टिंग के लिए अमेरिकी कंपनी थर्मो फिशर (Thermo Fisher) की टेस्टिंग किट का इस्तेमाल किया जा रहा है. इस किट में ओमिक्रॉन वैरिएंट को डिटेक्ट करने के लिए S Gene Target Failure (SGTF) स्ट्रेटजी का इस्तेमाल होता है. म्यूटेशन के चलते थर्मो फिशर के Taq Path RT-PCR Test में S Gene को डिटेक्ट करना संभव नहीं हो रहा था.

ICMR ने किया नई टेक्नोलॉजी को डेवलप

आईसीएमआर ने SARS-CoV-2 Omicron का पता लगाने वाले रियल टाइम आरटी-पीसीआर टेस्ट की टेक्नोलॉजी के ट्रांसफर के लिए पिछले महीने कंपनियों से रूचिपत्र मंगाया था. 17 दिसंबर को जारी EoI में कंपनियों से इस नई टेक्नोलॉजी पर बेस्ड आरटी-पीसीआर टेस्ट किट के डेवलपमेंट और कमर्शियलाइजेशन के लिए भी निविदाएं मांगी गई थी.

आईसीएमआर के पास रहेगी ऑनरशिप

आईसीएमआर ने EoI में बताया था कि उसने ओमिक्रॉन वैरिएंट को डिटेक्ट करने के लिए नई टेक्नोलॉजी डेवलप की है और इसके लिए किट भी तैयार की गई है. इस टेक्नोलॉजी की ऑनरशिप आईसीएमआर के पास रहेगी, जबकि टाटा मेडिकल एंड डायग्नोस्टिक्स इसका व्यावसायिक उत्पादन करेगी. टाटा के ओमिस्योर को 30 दिसंबर को आईसीएमआर की मंजूरी मिली थी.