नानकमत्ता चौहरे हत्याकांड का पर्दाफाश, अब प्रशासन पर हो रही इनामी बारिश

नानकमत्ता: छह दिन पूर्व नानकमत्ता में ज्वेलर्स व उसके तीन परिजनों की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा किया है. पुलिस ने नर्तक ज्वेलर्स के दोस्त और उसके तीन साथियों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है. पुलिस का आरोप है कि ये हत्याएं लूटपाट के इरादे से की गई थीं. हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम को डीजीपी ने दस हजार व नानकमत्ता विधायक प्रेम सिंह राणा ने ग्यारह हजार का नगद पुरस्कार दिया.

दोस्त ने की हत्या

उधम सिंह नगर जनपद के नानकमत्ता थाना क्षेत्र में 29 दिसंबर को नानकमत्ता बाईपास पुल के पास झाड़ियों में दो लाशें से मिली थीं. जिनकी पहचान अंकित रस्तोगी व उसके भांजे उदित रस्तोगी के रूप में हुई थी. साथ ही अंकित रस्तोगी के घर में उसकी मां और नानी की भी लाश मिली थीं. पुलिस द्वारा इस हत्याकांड के खुलासे के लिए पांच टीमें बनाकर तेजी से जांच शुरू कर दी गई थी. आज डीआईजी निलेश आनंद भरने और एसएसपी उधम सिंह नगर दिलीप सिंह कुमार ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि मृतक अंकित रस्तोगी के दोस्त रानू रस्तोगी ने अपने तीन साथियों मुकेश वर्मा, रुद्रपुर निवासी राहुल वर्मा और खटीमा निवासी सचिन सक्सेना के साथ मिलकर पूरे हत्याकांड को अंजाम दिया था. इस हत्याकांड को लूट के इरादे से अंजाम दिया था.

विधायक ने दिया इनाम

पुलिस ने अभियुक्तों के पास से लूट के पैतीस हजार रुपये व वैगनआर कार बरामद की है. जहां पुलिस ने रानू रस्तोगी, मुकेश वर्मा और राहुल वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है, वहीं सचिन सक्सेना अभी फरार भी है. हत्याकांड का खुल्लासा करने पर स्थानीय विधायक प्रेम सिंह राणा ने पुलिस टीम को ग्यारह हजार रुपए, किसान संगठन ने पांच हजार रुपए साथ ही ग्राम प्रधान संघ ने पांच की नगद धनराशि इनाम में दी है.