कोरोड़ों की योजना पर जंग

उत्तराखंड में श्रम विभाग की लापरवाही रुकने का नाम नहीं ले रही है दअरसल राज्य के गरीब श्रमिकों को दी जाने वाली साइकिल लखनवाला गांव के खेतों में खुले आसमान के नीचे जंक खाती हुई पायी गई इस बात का खुलासा खुद कांग्रेस के पछवादून के जिलाध्यक्ष संजय किशोर ने किया उन्होने मौके पर जाकर साईकिलों की बदहाल स्थिति देकर प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला साथ ही लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है. वहीं मामला बढ़ता देख सरकार ने भी जांच की मांग की है इन सबके बीच डंप साईकिलों को लेकर श्रम विभाग ने पल्ला झाड़ लिया है बोर्ड के अधिकारियों का कहना है कि उन्होने अपने स्तर से जांच की है जिसमें यह साईकिलें श्रम विभाग की नहीं है सवाल ये है कि जब विभाग ही मना कर रहा है तो फिर ये हजारों साईकिलें किसकी है आज हम इसी पर करेंगे चर्चा पहले रिपोर्ट देखिए

उत्तराखंड में श्रम विभाग की लापरवाही रुकने का नाम नहीं ले रही है दअरसल राज्य के गरीब श्रमिकों को दी जाने वाली साइकिल लखनवाला गांव के खेतों में खुले आसमान के नीचे जंक खाती हुई पायी गई इस बात का खुलासा खुद कांग्रेस के पछवादून के जिलाध्यक्ष संजय किशोर ने किया उन्होने मौके पर जाकर साईकिलों की बदहाल स्थिति देकर प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला। कहा कि सरकार के मंत्री व बोर्ड के बीच चल रहे झगड़े की मार गरीब मेहनतकश श्रमिकों पर पड़ी है। कहा कि श्रमिकों के नाम पर लाखों रुपये की खरीदी साइकिलें मजदूरों तक नहीं पहुंची हैं। कहा कि जीरो टॉलरेंस का नारा देने वाली भाजपा की सरकार के भ्रष्टाचार की पोल खुल गयी है इसके साथ ही उन्होने कहा कि सभी योजनायें प्रदेश वासियों के जेब से दी जाने वाले टैक्स से सरकार चलाती है। ऐसे में जनता के पैसे की बंदरबांट करने, श्रम विभाग द्वारा अपने गोदामों में करोड़ों का सामान खरीद कर जंक लगाने के लिए रखना प्रदेश की जनता के हितों पर कुठाराघात तो ही है। साथ राज्य की जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा है। जिसे जनता बर्दाश्त नहीं करेगी। कहा कि लाखों रुपये की हजारों साइकिलें कबाड़ हो गयी हैं

वहीं इस मामले में श्रम विभाग ने पल्ला झाड़ लिया है बोर्ड के अधिकारियों का तर्क है कि अभी किसी भी गोदाम में कोई साईकिलें नहीं पड़ी हुई है दूरभाष पर हुई बातचीत में बोर्ड की सचिव मधु नेगी चौहान ने श्रम विभाग की साईकिलें होने से इंकार किया है हांलाकि जब के न्यूज की टीम उत्तराखंड भवन एँव अन्य सन्निमार्ण कल्याण बोर्ड के कार्यालय पहुंची तो वहां कोई भी जिम्मेदार अधिकारी नहीं था.वहीं बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता विपिन कैंथोला कांग्रेस पर हमला करते हुए कह रहे हैं कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में कुछ नहीं किया बीजेपी लगातार श्रमिकों के लिए कार्य कर रही है जो आरोप लगाए जा रहे हैं वो निराधार है.वहीं कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने सरकार से जांच की मांग की है उनका कहना है कि साईकिलें आज भी गरीब के लिए बहुत महत्वपूर्ण है ऐसे में जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए

कुल मिलाकर भले ही विभाग अपना पल्ला इन डंप साईकिलों से झाडे लेकिन इतनी बड़ी संख्या में ये साईकिलें किसी आम आदमी या किसी अन्य विभाग की तो नहीं हो सकती है बहराल सरकार ने इस मामले में जांच के आदेश तो दिये हैं लेकिन देखना होगा कि क्या इस मामले में जांच अपने अंजाम तक पहुंच पाएगी या नहीं, क्या लापरवाह अधिकारियों पर गाज गिरेगी या नहीं ऐसे अनगिनत सवाल है जिससे जवाब का सबको इंतजार है

देहरादून से के न्यूज इंडिया के लिए राजेश वर्मा  की रिपोर्ट