NEET PG 2022: Neet PG आरक्षण केस को लेकर जल्द हो सुनवाई, सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार की अपील

सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार ने अपील की है कि मेडिकल स्टूडेंट्स के दाखिले से जुड़े Neet PG आरक्षण केस में जल्द सुनवाई की जाए. बता दें कि मेडिकल छात्र -छात्राओं की दाखिले के लिए काउंसिलिंग नहीं हो रही है. इससे स्टूडेंट्स के साथ-साथ डॉक्टर बिरादरी भी बेहद गुस्से में है. डॉक्टरों ने इस मुद्दे पर मिले आश्वासन के बाद हाल ही में अपनी हड़ताल खत्म की है.

जस्टिस डीवाई चंद्रचूडन ने कहा है कि आज शाम तक वे इस मुद्दे पर चीफ जस्टिस से बात करेंगे. वहीं इस केस की सुनवाई 6 जनवरी को होनी है अगर कोर्ट इजाजत देता है तो इसकी सुनवाई कल हो सकती है.

अभ्यर्थियों को कोटे का लाभ

नीट पीजी कोर्स में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए रिजर्वेशन को लेकर केंद्र सरकार अपने पुराने रुख पर कायम है. केंद्र सरकार ने एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि इस साल वह 8 लाख रुपये तक की सालाना आय वाले अभ्यर्थियों को कोटे का लाभ देना चाहती है. कोर्ट इसे कम से कम इस साल के लिए मंजूरी दे तो दाखिले के लिए काउंसिलिंग शुरू की जाए.

केंद्र सरकार ने 25 नवंबर 2021 को सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि 8 लाख रुपये तक सालाना आय की सीमा तय करने पर उठाए गए सवालों और पेचीदगी की लेकर एक्सपर्ट कमेटी बनाई जाएगी जो एक महीने में सिफारिश देगी. इसके बाद काउंसलिंग शुरू की जाएगी.

छात्र कर रहे अदालत के फैसले का बेसब्री से इंतजार

NEET परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार, NEET PG Result 2021 की घोषणा के बाद, परीक्षा उत्तीर्ण करने वालों की काउंसलिंग प्रक्रिया 24 से 29 अक्टूबर तक होनी थी. देश भर में NEET परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले लगभग 50,000 छात्र अदालत के उस फैसले का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं जिसके बाद काउंसलिंग शुरू की जा सकेगी.